Pinki Rawat Murder: हत्या के तीसरे दिन भी हाथ नहीं लगा कोई सुराग, पूर्व CM मिले पीड़ित परिवार से

JBT Staff
JBT Staff October 20, 2019
Updated 2019/10/20 at 3:17 PM

Pinki Rawat Murder: उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर (Kashipur) शहर में दिनदहाड़े हुई हत्या ने राज्य में हर किसी को आगबबूला का दिया है. शुक्रवार को दोपहर 1 बजे के करीब कुछ बदमाशों ने 19 साल की पिंकी को चाकू से वार कर मौत के घात उतार दिया है.

पिंकी के मर्डर के बाद काशीपुर, रामनगर और हल्द्वानी के लोगों में आक्रोश है, सड़कों पर हालत बेकाबू हैं लेकिन पुलिस के लिए हत्यारों का पता लगाना किसी चुनौती से कम नहीं है. हत्या के तीसरे दिन भी प्रशासन के हाथ कोई ठोस सबूत नहीं लगा.

18 अक्टूबर को काशीपुर (Kashipur) मोबाइल शॉप में पिंकी रावत को अकेला देखकर दो बदमाशों ने लूट पाट की कोशिश की तो सेल्स गर्ल के तौर पर वहां मौजूद पिंकी ने अनहोनी का अंदाजा ना लगाते हुए विरोध किया लेकिन बदमाशों ने उसके पेट में चाकू घोंप दिया.

पौड़ी गढ़वाल के धुमाकोट से पिंकी रावत, उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर शहर में पढ़ाई व पार्ट टाइम जॉब कर रही थी. 19 साल की होनहार पिंकी अपने पैरों पर खड़ा होकर परिवार की देखभाल व खर्चा चलाने के लिए मोबाइल शॉप पर जॉब कर रही थी.

शॉप के ओनर मनीष चावला उस वक्त शॉप पर नहीं थे जिसका फायदा बदमाशों ने उठाना चाहा. मनीष का कहना है, घटना के कुछ देर पहले पिंकी से उनकी बात हुई थी जिस दौरान उसने किसी गैजेट का रेट पूछा, उन्होंने शॉप पर आने की बात कही लेकिन जैसे 1 बजे के आस पास वह दुकान पहुंचे, खून से लतपत लाश देखकर तुरंत पुलिस को इन्फॉर्म किया.

धुमाकोट के कोनगोड़ीखाल की रहने वाली पिंकी की मौत के बाद उसके परिजनों व गाँव वालों का रो-रोकर बुरा हाल है. 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली होने की वजह से आसपास के क्षेत्रों से काशीपुर पोस्टमार्टम हाउस पहुंची भारी तादात में जनता ने पुलिस प्रशासन से जल्द हत्यारों की गिरफ्तारी की करी मांग साथ ही जनता का कहना है कि यदि मामले का जल्द ही खुलासा नहीं किया गया तो इस मामले में उग्र आंदोलन भी किया जाएगा.

उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत (Harish Rawat) ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की और प्रशासन से जल्दी ही जांच की बात की.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.