Padma Shri: अदनान सामी को पद्मश्री दिए जाने पर हुई सियासत गर्म, जानिए किसने क्या कहा

JBT Staff
JBT Staff January 26, 2020
Updated 2020/01/26 at 9:21 AM

Padma Shri: पाकिस्तान मूल के सिंगर व म्यूजिशियन अदनान सामी को भारतीय सरकार देश के चौथे सर्वोच्च नागरिकता सम्मान से नवाज रही है, ऐसे में कई सियासतदानों के कान खड़े हो गए हैं. कुछ लोग इस सम्मान का सपोर्ट कर रहे हैं तो कुछ इसके खिलाफ नजर आ रहे हैं.

राज ठाकरे (Raj Thackeray) की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने अदनान सामी को अवार्ड से नवाजे जाने के ऊपर सवाल उठाए तो दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने इसे शाहीन बाग़ में हो रहे नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को चेताया कि देखो.

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्विट कर भारत की नागरिकता ले चुके दिग्गज आर्टिस्ट को बधाई दी, और कहा कि वह प्रतिभावान अदनान सामी को बधाई देते हैं, वह उन लोगों में से हैं जो इंडिया के संविधान में विश्वास रखते हैं, उम्मीद है शाहीन बाग़ सुन रहा होगा.

एमएनएस (MNS) के अमेय खोपकर ने अदनान की नागरिकता पर सवाल उठाए, उनका कहना है वह भारतीय नागरिक नहीं हैं, वह चाहते हैं कि यह फैसला तुरंत वापस लिया जाए.

अदनान, कैसे बने भारतीय नागरिक?

15 अगस्त 1973 को पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में जन्मे अदनान सामी (Adnan Sami) के पिता अरशद सामी खान (Arshad Sami Khan) पाकिस्तान डिप्लोमेट थे लेकिन मां जम्मू कश्मीर की रहने वाली थीं. साल 2001 में अदनान पहली बार एक साल के टूरिस्ट वीजा पर इंडिया आए, फिर मानवीय आधार पर नागरिकता देने की गुजारिश की और केंद्रीय सरकार ने स्वागत किया.

अदनान सामी ने ट्विटर के माध्यम से खुशी जाहिर की है जबकि MNS सहित कई पार्टी के लोगों ने कहा कि उनको अवार्ड देने में जल्दी की गयी है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.