Nirbhaya Convicts Hanged To Death: आखिरकार निर्भया के दोषियों को हुई फांसी, जानिए निर्भया की मां का पहला बयान

JBT Staff
JBT Staff March 20, 2020
Updated 2020/03/20 at 8:29 AM

Nirbhaya Convicts Hanged To Death: तीन बार फांसी टलने के बाद लोगों को यकीन कर पाना मुश्किल हो रहा कि वाकई आज सुबह 5:30 बजे चारों दोषियों को सूरज उगने से पहले फांसी के फंदे पर लटका दिया है. तिहाड़ जेल में चारों को आधे घंटे तक फंदे से लटकाया गया, इसके बाद पोस्टमार्टम के लिए शवों को भेजा गया है.

बता दें पोस्टमार्टम के बाद दोषियों के शव उनके घरवालों को सौंपे जाने हैं. इस वक्त सबसे ज्यादा सुकून भरा पला जिसके लिए है, वह हैं निर्भया की मां, उनके ही दम पर यह दिन देश की बेटियों व महिलाओं के लिए न्याय की मिशाल बन रहा है. जिस तरह दोषियों के वकील ने एड़ी चोटी का जोर लगाया था, ऐसे में उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी, बेटी को न्याय दिलाने के लिए वह हर मोड़ पर तत्पर दिखी.

आज मीडिया ने निर्भया के घर में जाकर उनकी मां की प्रतिक्रिया जानी, उन्होंने सभी अदालतों, सरकारों, राष्ट्रपति व इस केस में साथ देने के लिए सभी का धन्यवाद कहा. उन्होंने कहा कहा आखिरकार, देर हुई लेकिन न्याय मिला.

दूसरी तरफ एपी सिंह ने आखिरी वक्त तक दोषियों की वकालत करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, उन्होंने कई कहानियां सुनाकर अपने दोषियों को निर्दोष बताने की कोशिश की, उन्होंने आरोप लगाया कि निर्भया की मौत से लेकर उनके क्लाइंट्स की मौत का राजनीतिकरण किया गया है.

बता दें कल 19 मार्च को चार दोषियों में से अक्षय ठाकुर की पत्नी ने पटियाला हाउस कोर्ट के आगे खूब ड्रामा किया था, उसने खुद को चप्पल भी मारी. सुप्रीम कोर्ट ने पवन गुप्ता की क्यूरेटिव याचिका भी खारिज कर दी गई थी, डेथ वारंट पर रोक लगाने की याचिका को रिजेक्ट कर दिया गया था, ऐसे में गुनहगारों के पास सारे रास्ते बंद हो गए थे.

लेकिन गुनहगारों के मसीहा सिंह का कहना है, मानव अधिकार से लेकर अंतरराष्ट्रीय कोर्ट तक इस मामले पर सुनवाई पेंडिंग हैं, ऐसे में फांसी पर रोक लगनी चाहिए. उनका कहना है, कोरोनावायरस की वजह से अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के दरवाजे फिलहाल अभी बंद हैं.

ज्योति सिंह आका निर्भया के पेरेंट्स आशा देवी व बद्रीनाथ केंद्र व दिल्ली सरकार से लगातार निवेदन कर रहे थे कि वह बेटी को न्याय दिलाने में और विलंब ना करें. निर्भया की वकील सीमा कुशवाहा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्हें यकीन है कल सुबह 5:30 बजे दोषियों की आखिरी सुबह होगी. आखिरकार फैसला वो हुआ जिसका बेसब्री से इन्तजार किया जा रहा था.

TAGGED: ,
Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.