Narsinghanand: कमलेश तिवारी के तर्ज पर थी नरसिंहानंद की हत्या की प्लानिंग, कश्मीरी युवक गिरफ्तार

JBT Staff
JBT Staff May 17, 2021
Updated 2021/05/17 at 5:11 PM

Narsinghanand: साल 2019 में हिन्दू महासभा नेता कमलेश तिवारी का सर बेरहमी से कलम कर दिया गया था, कट्टरपंथी के चलते हत्या के तार आतंकी संगठनों से जुड़े पाए गए, वहीं देश के कुछ मौलानाओं पर भी शक की सुई घूमी क्योंकि उनके नाम के फतवे जारी हुए थे, अब डासना पुजारी निशाने पर नजर आ रहे हैं.

हाल ही में डासना देवी मंदिर में बड़ा विवाद हो गया था जहां 14 वर्षीय मुस्लिम लड़के की जमकर पिटाई हुई थी जिसके बाद मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती (Yati Narsinghanand Saraswati) ने कई मीडिया चैनलों को साक्षात्कार दिए और कई बार उनपर विशेष धर्म के खिलाफ जहर उगलने का आरोप लगा.

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर नरसिंहानंद के कई वीडियो वायरल हुए, एक इंटरव्यू में उन्होंने खुद दावा किया कि विशेष समुदाय का आतंकी सरगना उनके जान के पीछे पड़ा है, वह जब तक जिंदा हैं, मंदिर परिसर में किसी तरह की कोई अनहोनी नहीं होने देंगे, उन्होंने आरोप लगाया की दूसरे धर्मों के लोग यहां जान बूझकर सनातन धर्म को ठेस पहुंचाने आते हैं.

आखिरकार डासना मंदिर के महंत का अंदेशा कहीं सच साबित होता दिख रहा है, दिल्ली पुलिस का दावा है कि उनकी हत्या की साजिश चल रही है. पुलिस का कहना है कश्मीर के जान मोहम्मद डार आका जहांगीर नाम के कश्मीरी युवक को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है, उसके पास से पिस्टल व मैग्जीन बरामद हुई है.

सूत्रों की मानें तो उसे पाकिस्तान से ऑपरेट हो रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आबिद नाम के आतंकी ने सुपारी दी थी. महंत की वायरल वीडियोज दिखाकर उसे उकसाया गया था और अछे से ट्रेनिंग देने की कोशिश की गयी थी.

23 अप्रैल को कश्मीरी युवक दिल्ली पंहुचा, हत्याकांड की अंजाम देने के लिए वह किसी उमर नाम के शख्स से मिलने वाला था, वे टेलीग्राम के जरिए संपर्क साधते, इस बीच उमर जान मोहम्मद का दिल्ली रहने की व्यवस्था देखने वाला था, कश्मीर से निकलने से पहले उसके खाते में 35 हजार रुपए भी डाले गए थे.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.