नेहरु जयंती- पीएम मोदी, राष्ट्रपति कोविंद समेत देश के कई नेताओं ने चाचा को दी श्रद्धांजली

Umesh
Umesh November 14, 2018
Updated 2018/11/14 at 12:47 PM

चाचा नेहरु के नाम से लोकप्रिय देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की 129वीं जयंती है. इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति कोविंद सहित कई नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजली दी है.

पूरा देश आज भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जंयती पर उन्हें श्रद्धांजली अर्पित कर रहा है. बच्चों के बीच चाचा के नाम से लोकप्रिय जवाहर लाल नेहरू की 129वीं जयंती पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजली अर्पित की. इसके अलावा देश के कई राज्यों में उनकी जयंती पर श्रद्धांजली देने के लिए कई तरह के इंतजाम भी किए गए है.

सभी जानते है कि आज भी चाचा नेहरु देश के हर बच्चों के दिलों में जिंदा है. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ‘अपने पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को उनकी जयंती पर याद करते हुए, हम स्वतंत्रता संग्राम में और प्रधानमंत्री के कार्यकाल के दौरान उनके योगदान को नमन करते है.’

वहीं पीएम मोदी के अलावा देश के राष्ट्रपति कोविन्द ने ट्वीट किया, ‘पहले प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरु का उनकी जन्म जयंती पर सादर स्मरण.’

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने बुधवार को पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर उनकी समाधि शांतिवन जाकर श्रद्धांजली अर्पित की. श्रद्धांजली अर्पित करने के साथ-साथ सोनिया गांधी ने नेहरू की जंयती के मौके पर भी भाजपा पर जमकर निशाना साधा.

सोनिया गंधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि नेहरू ने जिन लोकतांत्रिक मूल्यों को आगे बढ़ाया, आज उनको चुनौती दी जा रही है. पंडित जवाहर लाल नेहरू की लोकतांत्रिक मूल्यों के सम्मान वाली विरासत को कमतर करने का प्रयास किया जा रहा है.

गौरतलब है कि स्वतंत्रता सेनानी और देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्म 1889 में आज ही उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में हुआ था. उनके पिता मोती लाल नेहरू बैरिस्टर थे. एक लोकप्रिय नेता के अलावा नेहरु एक शानदार स्पीकर और लेखक भी थे.

उन्होंने ‘द डिस्कवरी ऑफ इंडिया’, ‘ग्लिमप्स ऑफ वर्ल्ड हिस्टरी’ और बायोग्राफी ‘टुवर्ड फ्रीडम’ जैसी मशहूर किताबें लिखी हैं. नेहरू ने कैंब्रिज विश्वविद्यालय लंदन से कानून की शिक्षा हासिल की थी.  नेहरु 1947 से 1964 तक देश के प्रधानमंत्री रहे.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.