Mayank Pratap Singh: कौन हैं मयंक प्रताप सिंह, 21 साल की छोटी सी उम्र में जज बनकर बनाया कीर्तिमान

JBT Staff
JBT Staff November 22, 2019
Updated 2019/11/22 at 2:39 PM

Mayank Pratap Singh: जिस उम्र में अधिकतर युवा ग्रेजुएशन करते हैं उस उम्र में मयंक प्रताप सिंह बन गए हैं जज, उनके नाम देश के सबसे कम उम्र का जज बनने का रिकॉर्ड दर्ज हो चुका है.

टिकटॉक, फेसबुक, ट्विटर के जमाने में जहां एक तरफ युवा खुद को मशहूर करने के लिए दिन रात एक कर रहा है और किताबों से दूर होता जा रहा है तो उसी दौर के मयंक प्रताप सिंह (Mayank Pratap Singh) ने मात्र 21 साल में जज बनकर समाज को क्या खूब आइना दिखाया है.

2014 में मयंक ने राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University) से पांच साल का LLB कोर्स करने के लिए एडमिशन लिया था, आज कोर्स कम्पलीट करते ही उन्होंने जज की कुर्सी को सबसे कम उम्र का चेहरा दिया है.

मेहनती मयंक बचपन से ही न्यायिक सेवाओं व न्यायधीश को मिलने वाले रेस्पेक्ट से प्रभावती थे, यही वजह है कि उन्हें जज तक की कुर्सी पर पहुँचने के लिए ज्यादा समय भी नहीं लिया. राजस्थान राज्य के जयपुर शहर के रहने वाले मयंक, 2018 में  न्यायिक सेवा परीक्षा (Judicial Services) क्वालीफाई कर जज बनने वाले देश के सबसे छोटी उम्र के जज हैं.

आपको बता दें पिछले साल तक न्यायिक सेवा परीक्षा देने की उम्र 23 साल तक थी, साल 2019 से यह आयु 21 साल हो गयी है. परीक्षा में बैठने की उम्र कम होने की वजह से ही मयंक प्रताप सिंह एग्ज़ाम में बैठ पाए. उन्होंने एग्जाम में सफलता पाकर राजस्थान का नाम रोशन किया है, सफलता श्रेय उन्होंने परिवार, अध्यापकों को दिया.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.