Mangaluru Bomb Case: आदित्य राव नाम के संदिग्ध ने किया आत्मसमर्पण, पहले भी कर चुका है इस तरह की हरकत

JBT Staff
JBT Staff January 22, 2020
Updated 2020/01/22 at 3:17 PM

Mangaluru Bomb Case: बीते सोमवार को मंगलूरू हवाई अड्डे पर जिस व्यक्ति ने बम छोड़ा था, उसने खुद ही बंगलूरू पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है. आदित्य राव (Aditya Rao) नाम के इस शख्स की हिस्ट्री छानी गयी तो साल 2018 में भी इसी तरह का कृत्य वह कर चुका है.

वह किसी फेमस बार एंड रेस्टोरेंट में केशियर की जॉब कर रहा था, बताया जा रहा है कि फ्रस्टेशन की वजह से उसने लोगों को दहसत के हवाले कर दिया था. साल 2018 में वह बैंगलोर इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (Bangalore International Airport Limited) को थ्रेट कॉल कर चुका है.

20 अगस्त 2018 को उसने पुलिस को झूठी खबर की और बताया कि पार्किंग एरिया में बम है, एक हफ्ते बाद फिर उसने खबर दी कि 6 फ्लाइट्स में विस्फोटक पदार्थ है, पुलिस ने इस तरह के फेक कॉल्स के लिए उसे अरेस्ट तो किया लेकिन नौ महीने बाद उसे रिहा कर दिया गया था.

पहले तो वह सिर्फ अफवाहों में पुलिस को उलझाता रहा लेकिन इस साल उसने एअरपोर्ट के टिकट काउंटर पर लावारिस बैग छोड़ दिया, इस दौरान उसने चेहरे पर नकाब पहना हुआ था, CCTV फुटेज के सहारे उसकी छानबीन चल ही रही थी कि उसने खुद ही बंगलूरू पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था.

डीसीपी चेतन सिंह राठौर (Chetan Singh Rathore) ने आरोपी आदित्य राव (Aditya Rao) के आत्मसमर्पण के बारे में बात करते हुए बताया कि उसने खुद ही सरेंडर किया है, उसकी चिकित्सकीय जांच की जा रही है.

बंगलूरू सेंट्रल डिवीजन के चेतन सिंह ने बताया कि वह उसे बहुत जल्द मंगलूरू टीम को सौंपने वाले हैं. आदित्य राव ने किस तरह आईईडी (IED) को तैयार किया था व इस तरह के तमाम सवाल उससे पूछे जा रहे हैं, इसके पीछे उसके असल मकसद का आना भी अभी बांकी है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.