Rajasthan: छोटे भाई की पत्नी से थे अवैध संबंध, कोरोना को बनाया कत्ल का हिस्सा लेकिन 5 महीने बाद पर्दाफाश

JBT Staff
JBT Staff April 13, 2021
Updated 2021/04/13 at 1:57 PM

Rajasthan: यह कहानी किसी हिंदी क्राइम थ्रिलर फिल्म की नहीं है बल्कि कई डायरेक्टर्स को इस न्यूज को पढ़ने के बाद स्क्रिप्ट का आईडिया आ सकता है. नाजायज रिश्तों में डूबे जेठ-बहू ने कोरोनाकाल को मौका बनाकर ऐसा नाटक रचा कि 5 महीने तक किसी को भनक भी नहीं लगी कि अपने रिश्ते को जारी रखने के लिए उन्होंने किसी का कत्ल भी किया है.

इस शातिर जोड़ी के अलावा कत्ल में 5 सुपारी किलर्स भी शामिल हैं, पुलिस ने उतनी ही चतुराई से केस सॉल्व कर सभी को हिरासत में ले लिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर कहती है मुख्यारोपी तपन दास (51) का अपने छोटे भाई उत्तम दास (45) की पत्नी रूपा दास (40) से रिश्ता था, बीच में रास्ते का कांटा बना भाई उत्तम को हटाने के लिए तपन ने सारी सीमाएं लांघ डाली, झूठ और फरेब की इस कहानी का अंत सबके सामने है.

कारोबारी भाइयों का करोड़ों का टर्नओवर था लेकिन रिश्ते में तब दरार आ गई जब 11 साल का गैप होने के बाद भी जेठ-बहू के रिश्ते में शर्म लिहाज का किस्सा ही खत्म हो पड़ा. नवंबर में बड़े भाई ने किसी प्रॉपर्टी के काम के बहाने से भाई को उदयपुर भेजा, रास्ते में कांट्रेक्ट किलर्स को साथ में बैठाया और शराब मीट में नीद की गोलियां मिला दी, राकेश लोहार नाम के सुपारी किलर ने बेहोशी के हाल में बेल्ट से उत्तम का गला घोंट डाला.

तपन घर लौटता है और परिवार वालों को बोलता है कि बिजनेस के काम से वह कुछ दिन उदयपुर में ही रुका है, लगभग एक महीने बाद बोलता है उत्तम को कोरोना हो गया था जिससे उसकी डेथ हो गई और बॉडी का अंतिम संस्कार भी वहीं हो गया है, घर में पूरा नाटक रचा जाता है, यहां तक कि प्रेयर मीट भी रखी जाती है.

तपन व रूपा इस साजिश के बाद आम जिंदगी जीने लगे थे, तभी पति के नाम की संपति को पाने के लालच ने उसे दुनिया के सामने बेनकाब कर दिया. फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए चक्कर काट रहे तपन-रूपा पर पुलिस के किसी खबरी की नजर पड़ गई, उस आधार पर जेठ-बहू के जोड़े पर कड़ी निगरानी रखी जिसके बाद इस ब्लाइंड मर्डर केस का पर्दाफाश हो गया.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.