Utarakhand: हरिद्वार कुंभ से बेहद बुरी खबर, महामंडलेश्वर की कोरोना से हुई मौत व कई साधु पॉजिटिव

JBT Staff
JBT Staff April 16, 2021
Updated 2021/04/16 at 1:03 PM

Uttarakhand: अन्य राज्यों की तरह उत्तराखंड में भी कोरोना की दूसरी लहर डरावनी है, वहीं कुंभ मेले की वजह से प्रदेश में आवाजाही रुकने का नाम नहीं ले रही है. सल्ट विधानसभा उपचुनाव की रैलियों की तस्वीरें व कुंभ में शाही स्नान की तस्वीरें बड़ा कोरोना विस्फोट को न्योता देते दिख रही हैं.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर कहती है कि कुंभ हरिद्वार में शामिल होने आए मध्य प्रदेश के निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर 65 वर्षीय कैपल देव दास (Kapil Dev Das) बीते कुछ दिनों से कोरोना पॉजिटिव थे जो इस महामारी से अब जंग हार चुके हैं.

30 अप्रैल तक चलने वाले इस मेले (Kumbh Mela 2021) को जल्द खत्म करने की अपील पूरे देशभर से जा रही है, सोशल मीडिया पर बीते कई दिनों से कुंभ की तस्वीरों को भविष्य का सुपरस्प्रेडर बताया जा रहा था जो अब कहीं न कहीं सही साबित होता भी दिख रहा है.

68 शीर्ष साधुओं के संक्रमित होने की खबर से हरिद्वार कुंभ में कोरोना विस्फोट होने की संभावना है. मेला प्रशासन की रिपोर्ट कहती है कि अब तक 332 लोग वहां कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, 12 अप्रैल के बाद 79301 श्रद्धालुओं व संतों का कोरोना टेस्ट हो चुका है टोटल 745 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

वहीं महामंडलेश्वर कपिल देव दास के निधन के बाद उनके अखाड़े ने यहीं अपना कुंभ का सफर खत्म कर दिया है, हालांकि आखिरी शाही स्नान 27 अप्रैल को किया जाना है जबकि 30 अप्रैल को अधिकारिक तौर पर मेला खत्म हो जाएगा. प्रदेश में कोरोना पर काबू पाने के लिए गंभीरता से काम नहीं किया जा रहा है.

कल ही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा साल्ट में महेश जीना के समर्थन में विशाल जनसभाएं संबोधित की गई जबकि पूर्व सीएम व कांग्रेस के शीर्ष नेता हरीश रावत द्वार कोरोना को मात देने के बाद सीधा सल्ट क्षेत्र में गंगा पंचोली के समर्थन में जनसभाएं संबोधित करते हुए देखा गया.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.