J&K: एक हफ्ते के अंदर 2 पुलिस वालों की हत्या, आतंकी संगठन टीआरएफ ने ली जिम्मेदारी

JBT Staff
JBT Staff June 23, 2021
Updated 2021/06/23 at 9:59 AM

Jammu-Kashmir: नमाज पढ़ने मस्जिद की तरफ जा रहे पुलिस इंस्पेक्टर को 2 आतंकियों ने गोली मारी, वारदात CCTV फुटेज में कैद हुई जिसके आधार पर इलाके में खूब छानबीन की जा रही है. 2 आतंकी पीछे से आए और गोलियां बरसा दी.

पुलिस इंस्पेक्टर परवेज अहमद डार, आतंकियों के कायराना हमले में शहीद हो गए, वह मंगलवार रात को मस्जिद में नमाज पढ़ने निकले थे तभी घात लगाकर बैठे 2 आतंकियों ने पीछे से गोलियां बरसा दी, वह जमीन पर गिर पड़े, मौके पर पहुंचे लोगों ने उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया लेकिन उपचार के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया.

CCTV फुटेज के आधार पर दोनों आतंकियों की खोजबीन की जा रही है, द रेजिस्टेंस फ्रंट (TRF) नाम के आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है, इस कत्ल के तार 17 जून को हुए पुलिसकर्मी जावेद से भी जुड़े हैं, संगठन का कहना है युवाओं को प्रताड़ित करने का अंजाम है जो आगे भी जारी रहेगा.

लोकल युवाओं की आतंकी संगठनों के साथ बढ़ती नजदीकियों को रोकने के लिए जम्मू एंड कश्मीर में लंबे वक्त से काम चल रहा है लेकिन लोकल पुलिसकर्मी ही उनके निशाने पर आ जाते हैं, ऐसे में उनके लिए अपना फर्ज निभाना जानलेवा होता जा रहा है. 17 जून को श्रीनगर के ईदगाह इलाके में जावेद अहमद को गोली मारी गई थी, वह जवान जज के पीएसओ के पद पर थे.

परवेज अहमद डार, 2000 बैच के पुलिस सब इंस्पेक्टर थे, जो बाद में प्रोमोट होकर इंस्पेक्टर बने थे, वह वर्तमान में CID में आतंकियों के खिलाफ काम कर रहे विंग में तैनात थे. टारगेट किलिंग का यह मामला आतंकी संगठन टीआरएफ का पुलिस वालों के लिए चेतावनी है. हफ्तेभर के अंदर दूसरी हत्या के बाद सख्ती से जांच की जा रही है, हर नाके पर कड़ी छानबीन हो रही है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.