Jalandhar: महिला टीचर ने 13 साल के स्टूडेंट से रचाई शादी, रस्म-रिवाज, सुहागरात के बाद विधवा बनने का नाटक

JBT Staff
JBT Staff March 18, 2021
Updated 2021/03/18 at 2:59 PM

Jalandhar: जालंधर से एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है, अंधविश्वास व पुरानी रीति रिवाजों ने आज भी लोगों के मन में ऐसा घर किया है कि वे गलत कदम उठाने से पहले सोचते नहीं हैं.

यहां एक महिला टीचर ने पंडित का बताया रास्ता चुना तो नौबत जेल जाने तक की आ गी है, दरअसल महिला के कुंडली से मांगलिक दोष हटाने का उपाय उसे बहुत महंगा पड़ गया क्योंकि उसने जो रास्ता चुना व आपराधिक मामला है. एक नाबालिग को छह दिन तक अपने घर में झूठ बोलकर रखना और फिर जो वजह सामने निकल कर आती है उससे इलाके में हड़कंप मचा है.

घटना जालंधर के बावा खेल इलाके की बताई जा रही, यहां 13 साल के लड़के ने 6 दिन बाद घर लौटने पर अपने साथ बीते एक हफ्ते की कहानी सुनाई तो मां-बाप का खून खौल उठा और तुरंत में शिकायत दर्ज की, हालांकि इस केस को रफा दफा करने की भी कोशिश की गई लेकिन पुलिस का कहना है यह एक अपराधिक मामला है, पंडित व परिवार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

बताया जा रहा कि टीचर की लाख कोशिशों के बाद भी शादी नहीं हो रही थी, मांगलिक दोष को हटाने का उपाय पंडित जी ने बताया जिसे वह फॉलो करने लगी. गरीब परिवार के बेटे को ट्यूशन का लालच देकर घर पर रुकवाने की इजाजत ले ली गई. लेकिन ट्यूशन के नाम पर बच्चे से प्रतीकात्मक शादी रचाई गई.

अंधविश्वास का भूत सर पर इस तरह सवार था कि शादी की पूरी रस्में निभाई गई, हाथों में हल्दी लगी, सुहागरात का नाटक भी हुआ, चूड़ियां टूटी और विधवा होने का नाटक भी हुआ. डीसीपी गुरमीत सिंह ने इस मामले में बात करते हुए कहा कि पीड़ित परिवार के साथ धोखाधड़ी हुई है, नाबालिग बच्चे से शादी के मामले में जांच जारी है.

TAGGED:
Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.