भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी और पत्नी ने जीता नोबेल प्राइज, जानिए उनके बारे में

JBT Staff
JBT Staff October 14, 2019
Updated 2019/10/14 at 4:58 PM

Abhijit Banerjee shares the Nobel Prize with two other economists: इकोनॉमिस्ट अभिजीत बनर्जी, एस्थर डफ्लो और माइकल क्रेमर को मिला नोबेल प्राइज.

भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी (Abhijit Banerjee) व पत्नी एस्थर डफ्लो (Esther Duflo) के साथ माइकल क्रेमर (Michael Kremer) को ‘वैश्विक गरीबी खत्म करने के प्रयोग’ को लेकर उनके शोध के लिए नोबेल पुरस्कार मिल चुका है. संयुक्त रूप से, 58 वर्षीय अभिजीत बनर्जी व अन्य 2 इकोनॉमिस्ट यह बड़ा सम्मान मिला.

मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (Massachusetts Institute of Technology) में अर्थशास्त्र के प्रफेसर अभिजीत, मूल रूप से इंडिया के हैं. उन्होंने 1981 में कोलकाता यूनिवर्सिटी (Kolkata University) से बीएससी करने के बाद 1983 में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) से एमए किया था.

आपको बता दें अभिजीत के माँ निर्मला बनर्जी और पिता दीपक बनर्जी भी अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रहे थे. अर्थशास्त्र में मास्टरी के बाद वह पहुंच गए हार्वर्ड, 1988 में यहां से डॉक्टरेट हासिल की. भारत में पले बढ़े अभिजीत बनर्जी ने साल 2015 में इकोनॉमिस्ट एस्थर डफलो से दूसरा विवाह किया.

अभिजीत की पहली पत्नी का नाम डॉ. अरुंधति तुली बनर्जी (Dr. Arundhati Tuli Banerjee) है, जो एक साहित्य की लेक्चरर हैं दोनों का एक बेटा हुआ जो 2016 में दुनिया को कह गया. दोनों साथ में ही पले बढ़े लेकिन बहुत पहले उनका तलाक हो चुका था इसके बाद 2015 में अमेरिकी इकोनॉमिस्ट एस्थर से उनकी शादी हुई जबकि 2012 में ही उनकी संतान हो गयी थी.

एस्थर डफ्लो (Esther Duflo) की पीएचडी के दौरान उनके को-सुपरवाइजर अभिजीत बनर्जी ही थे. ग्लोबल गरीबी (Global Poverty) से निपटने को लेकर उनके शोध के लिए पति-पत्नी और माइकल क्रेमर (Michael Kremer) नाम के इकोनॉमिस्ट को नोबेल पुरुस्कार से नवाजा गया है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.