Uttarakhand: डासना देवी मंदिर विवाद के बाद देहरादून में 150 मंदिरों में लगा बैनर, गैर हिन्दुओं का प्रवेश वर्जित

JBT Staff
JBT Staff March 22, 2021
Updated 2021/03/22 at 2:56 PM

Uttarakhand: हाल ही में एक 14 वर्षीय मुस्लिम लड़के की पिटाई ने खासा तूल पकड़ा था, जिसके बाद मंदिरों में विशेष समुदाय द्वारा हुड़दंग करने व चोरी करने का आरोप है. मंदिर के महंत ने गुस्से भरे लहजे में मीडिया को इंटरव्यू दिया था कि उनके धर्म को बदनाम किया जा रहा है.

उनका कहना था पानी पीने के लिए किसी को मंदिर परिसर में आने की जरूरत नहीं है, परिसर तक पहुंचने से पहले ही तीन पानी के नल पड़ रहे हैं वहां पानी पीया जा सकता था, उनका आरोप है आज तक कई महंतों की हत्या हो चुकी है लेकिन मीडिया ने कभी कवर नहीं किया, आए दिन मंदिर में चोरी होती रहती है, इसके साथ गैर हिन्दुओं के द्वारा नापाक हरकतों के मामले भी हैं.

देशभर में इस मुद्दे ने खासा तूल पकड़ा कुछ ने 14 वर्षीय आसिफ नाम के इस नाबालिग बच्चे के लिए दुःख प्रकट किया तो कुछ ने उसकी पिटाई को सही ठहराने की कोशिश की. कल ही महाराष्ट्र से शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि एक प्यासे की पिटाई कर दी, किस तरह का राम राज्य है.

इस मुद्दे से जुड़ा दक्षिणपंथी समूह हिंदू युवा वाहिनी द्वारा अनोखी पहल सामने आई है, उनके द्वारा उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कई जगहों पर बैनर लगा दिए गए हैं जिनमें साफ़ लिखा है ‘गैर हिन्दुओं का प्रवेश वर्जित है’.

शहर के मेन इलाके जैसे, प्रेमनगर, सुद्धोवाला, चकराता रोड स्थित 150 मंदिरों को मिलाकर कई जगहों पर इस तरह के बैनर लगाए गए हैं. उनका कहना है नरसिंहानंद सरस्वती के समर्थन में ये कदम उठाए गए हैं, उन्होंने हाल ही में मुस्लिम विरोधी कई बयान दिए हैं.

TAGGED:
Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.