Golden Baba dies: नहीं रहे गोल्डन बाबा आका सुधीर कुमार कक्कड़, दिल्ली AIIMS में ली आखिरी सांस

JBT Staff
JBT Staff July 1, 2020
Updated 2020/07/01 at 1:28 PM

Golden Baba dies: 20 किलो सोने से लदकर कांवड़ यात्रा करने वाले बाबा अब इस दुनिया में नहीं रहे, लम्बी बिमारी के चलते वह दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में भर्ती थे लेकिन मंगलवार रात को तबियत ज्यादा बिगड़ने से उन्होंने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया.

गोल्डन बाबा (Golden Baba) का असली नाम सुधीर कुमार कक्कड़ (Sudheer Kumar Kakkad) है, बताया जाता है कि अपने पापों का प्रायश्चित करने के लिए उन्होंने सन्यासी जीवन अपनाया था, कुछ साल पहले ही उन्होंने इस जीवन को अपनाया और 20 किलो सोना पहनकर टाइट सिक्यूरिटी के साथ धार्मिक कार्यक्रमों में हिस्सा लिया करते थे.

पूर्वी दिल्ली में उनके खिलाफ कई अपराधिक मामले जैसे फिरौती, अपहरण, वसूली, जान से मारने की धमकी के मामलों में मुकदमे दर्ज हैं, सन्यासी जीवन से पहले वह एक बड़े गारमेंट्स कारोबारी भी थे. मूल रूप से गाजियाबाद के रहने वाले गोल्डन आका सुधीर कुमार कक्कड़ को गोल्डन बाबा के नाम से इसलिए जाना जाता था क्योंकि उन्होंने सोना पहनना बहुत पसंद था, यही वजह थी कि 25-30 गार्ड्स उनके साथ समारोहों में जाया करते थे.

अपने इलाके में मशहूर होने के साथ लक्ज़री गाड़ी और सोने के आभूषणों के शौकीन होने की वजह से वह पूरे देशभर में मशहूर थे. दिल्ली के गांधीनगर में एक आश्रम भी है, यहां के लोगों का कहना है कि वह एक दर्जी थे साथ ही कपड़ों के बड़े कारोबारी बने, इस काम को छोड़ने के बाद वह प्रॉपर्टी के काम में आ गए और खूब पैसा कमाया, 2013 में गांधीनगर में खुद का आश्रम बनाया.

दिल्ली के गांधीनगर के अलावा हरिद्वार से भी उनका खास नाता रहा था, उन्होंने यहां भी फूल और कपड़ों का कारोबार किया था, इसके बाद ही वह प्रॉपर्टी के बिज़नस में गए थे.

TAGGED: ,
Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.