Galwan Valley: बिना हत्यारों के चले खूनी संघर्ष में 20 भारतीय जवान शहीद, 43 चीनीयों की मरने की खबर

JBT Staff
JBT Staff June 17, 2020
Updated 2020/06/17 at 11:50 AM
Indian Army Pulwama

Galwan Valley clash: चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है, समझौते के बाद भी चीनी सैनिकों ने इंडियन आर्मी पर हमला बोल दिया. सोमवार रात को अंधेरे का फायदा उठाते हुए चीनी सैनिकों ने मारपीट शुरू की और जवानों को नदी में फेंकने लगे.

मई की शुरुवात से चीनी सैनिक, भारत की सीमाओं पर आतंक मचा रहे हैं. इस डेढ़ महीने में लद्दाख से सटी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर जो हाल है उसके विडियोज भी सोशल मीडिया पर अक्सर वायरल हो रहे हैं. मई के पहले हफ्ते में दोनों देशों की आर्मी भिड़ी थी तो दोनों तरफ से कई सैनिक घायल हुए थे.

15 जून और 16 जून की रात को भारतीय सैनिकों ने चीन की आर्मी को मुंहतोड़ जवाब दिया, इस हाथापाई-मारपीट वाली घटना में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए जबकि 43 चीनी सैनिकों की मरने की खबर आ रही है लेकिन चीन ने अब तक सैन्य नुकसान की खबर नहीं दी, वैसे खबर छुपाने के लिए चीन मशहूर है.

इस महीने के पहले हफ्ते में भारत और चीन के अधिकारीयों में समझौते की बातचीत हुई थी, कोर कमांडर्स के बीच बात हुई कि गलवान घाटी (Galwan Valley) के पेट्रोलिंग प्वाइंट नंबर 14, 15 और 17 पर दोनों देश के सैनिक डिसइंगेज होंगे.

सहमति के मुताबिक चीन को 5 किलोमीटर पीछे चौकी नंबर 1 तक लौटना था, लौट रहे चीनी सैनिकों ने शाम के अंधेरे का फायदा उठाते हुए भारतीय टुकड़ी पर जानलेवा हमला कर दिया. इंडियन कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबु और उनके 2 सैनिक को चीनी टुकड़ी ने रॉड और डंडों से मारकर घायल कर दिया था.

इसके बाद भारतीय सैनिक, चीनी टुकड़ी पर टूट पड़ी, समझौते के मुताबिक दोनों देशों की आर्मी के पास किसी तरह का हत्यार तो नहीं था लेकिन हाथापाई, लात घूंसे, धक्का मुक्की हुई. सूत्रों की मानें तो चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के 43 जवान इस झड़प में मारे गए हैं लेकिन उस तरफ ने सैन्य नुकसान का जिक्र नहीं किया गया है.

TAGGED: ,
Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.