National

योगी आदित्यनाथ का बड़ा ऐलान, फैजाबाद का नाम बदलकर हुआ अयोध्या

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीपोत्सव समारोह के दौरान एक बड़ा ऐलान किया है. योगी ने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने की घोषणा की है.

विवादों में घिरी रही श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या एक बार फिर करोड़ो हिंदूओं की आस्था का प्रतीक बनी है. राम जन्मभूमि अयोध्य्या को लगातार दूसरी बार दुल्हन की तरह सजाया गया.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और साउथ कोरिया की फर्स्ट लेडी किम जुंग सुक की मौजूदगी में तीन लाख से अधिक दीपों को प्रज्ज्वलित कर छोटी दिवाली मनाई गई. अयोध्या में सरयू के तट पर जब एक साथ तीन लाख दीप प्रज्ज्वलित हुए, तो एक नया विश्व रिकॉर्ड बन गया.

दीपोत्सव के इस खास मौके पर योगी ने कई बड़ी घोषणाएं की हैं. योगी ने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने की घोषणा की है. इसके अलावा यूपी के सीएम ने अयोध्या में एक मेडिकल कॉलेज और एयरपोर्ट बनाने की घोषणा की है. एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के नाम पर और मेडिकल कॉलेज का नाम राजा दशरथ के नाम पर रखा जाएगा.

योगी ने इस खास कार्यक्रम में  लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ‘अयोध्या हमारी आन-बान और शान है. पहले लोग अयोध्या का नाम लेने से भी डरते थे.’

यह भी पढ़ें:  ब्रेकिंग: पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, आज कोर्ट में पेशी

योगी ने कहा.  ‘प्रधानमंत्री मोदी ने भी जनकपुर और अयोध्या के बीच बस सेवा की शुरुआत कर हमारे संबंधों को नेपाल के साथ मजबूत किया. नेपाल के साथ इस रिश्ते को और प्रगाढ़ बनाने के लिए मैं जनकपुर की यात्रा करूंगा.’

योगी ने कहा, ‘यहां हम यह बताने आए हैं कि कोई भी अयोध्या के साथ अन्याय नहीं कर सकता. अयोध्या के लोगों की आकांक्षाएं हमारी शीर्ष प्राथमिकताओं में है.’

यह भी पढ़ें:  पाकिस्तानी पीएम का दावा पीएम मोदी ने दिया नेशनल डे पर खास संदेश, विपक्ष को नहीं आया रास

योगी ने कहा, ‘इसके पहले नेताओं को अयोध्या आने में शर्मिंदगी महसूस होती थी. मैं पिछले 18 महीनों में छह बार यहां का दौरा कर चुका हूं. अयोध्या के विकास के लिए हमने कई सारी योजनाएं शुरू की हैं. हमारी सरकार ने सरयू को स्वच्छ बनाया है. हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि नदी में नाले का पानी न गिरे.’

आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही योगी सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया था. योगी के इस फैसले को सोशल मीडिया पर मिली-जुली प्रतिक्रया मिल रही है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top