India News

Ekta Murder Case: हिन्दू नाम रखकर शाकिब ने पहले प्यार का नाटक किया और फिर जुर्म की सारी हदें पार

Ekta Murder: लुधियाना के अंकुजा आनंद नगर की एकता ने कभी सपने में नहीं सोचा होगा कि जिस लड़के से वह बेइंतहा मोहब्बत करने लगी है वह उसके लिए यमराज बनकर आया है. यहां तक कि शाकिब की फैमिली भी मानो शैतानों की टोली हो, सबने मिलकर एकता की निर्मम हत्या पिछले साल 13 जून को कर दी थी.

दौराला, मेरठ के लोइया गांव की विडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस गांव के शाकिब ने लुधियाना की एकता को प्यार करने की ऐसी सजा दी सुनकर कोई भी गुस्से से लाल हो जाएगा. हेट स्टोरी की शुरुवात एकता के ही शहर से होती है लेकिन वह कभी शाकिब की असलियत को भांप नहीं पाई.

यह भी पढ़ें:  Bhadohi Encounter: यूपी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, 50 हजार रुपए का इनामी बदमाश हुआ ढेर

चार साल पहले मेरठ का युवक लुधियाना शिफ्ट हुआ, वहां अपने दोस्त दिलशाद के पास रहने लगा. इस दौरान बी-34 अंकुजा आनंद नगर की एकता की मुलाकात शाकिब से हुई और उसने अपना नाम अमन बताया. ग्रेजुएशन के साथ साथ वह पार्ट टाइम जॉब करने लगी थी. जब वह बीमार हुई तो तांत्रिक दिलशाद के यहां जा पहुंची, यहां शाकिब भी रहता था तभी दोनों के बीच दोस्ती होने लगी.

दोस्ती के बार शाकिब ने ऐसा प्रेमजाल बुना कि एकता प्यार में अंधी हो गई. SSP अजय साहनी ने बताया कि यह मामला लव जिहाद का है, शाकिब की पुरानी हिस्ट्री खंगालने के बाद पता चला कि वह पहले भी लड़कियों की प्यार में धोखा दे चुका है. धर्म बदलकर इस तरह प्यार का नाटक करना शाकिब का पेशा सा हो गया था.

यह भी पढ़ें:  बॉलीवुड सेलेब्स को बिजली के बिल ने दिया जोर का झटका, इस एक्ट्रेस को थमाया 50 हजार का बिल

दिलशाद से अनबन के बाद शाकिब अलग रहने लगा और उसने करनाल में खुद की दूकान खोली, एकता को नौकरी का झांसा दिया. दोनों में पर इस कदर परवान चढ़ा कि साथ में रहने लगे, शादी की बातें शुरू होने लगी. एकता को घर से ज्वैलरी लाने के लिए उकसाने लगा और वह 15 लाख के गहने ले भी आई.

शादी का वादा कर वह एकता को अपने गांव लोइया ले आया, यहां शाकिब की सारी हकीकत एकता के हाथ लगी और उसने यहां रहने से इंकार कर दिया. 15 लाख के गहने हाथ से निकलते देख शाकिब और उसके परिवार वालों ने एकता पर जुर्म ढाने शुरू कर दिए.

यह भी पढ़ें:  Kanpur Encounter: विकास दुबे के गुंडों को पुलिस की जानकारी देने वाली बहु और नौकरानी गिरफ्तार

शाकिब के साथ इस जुर्म में भाई मुसर्रत, पिता मुस्तकीम, भाभी रेशमा पत्नी नवेद, इस्मत पत्नी मुसर्रत और गांव के साथी अयान भी शामिल थे. एकता की जिद्द देखकर उन्होंने उसे नशीली दवा पिलाई, फिर जंगल में ले गए. भाभी रेशमा ने एकता को निर्वस्त्र किया, इसके बाद सभी ने मिलकर बलकटी से उसके हाथ, पैर और सिर अलग-अलग कर दिए.

बीते दिनों शाकिब ने अपनी जुर्म की दांस्ता शराब पीकर दोस्तों की बता दी जिसके बाद बात पुलिस तक पहुंच गई, गिरफ्तार करने आए पुलिसकर्मी की पिस्टल शाकिब छीन ली थी, भागने की कोशिश कर रहा शाकिब पुलिस के हाथों घायल हो गया, उसके पैर में चार गोलियां लगी हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top