Delhi Corona: दिल्ली में सख्ती से लॉकडाउन की मांग, जुलाई अंत तक 5.5 लाख केसों की आशंका

JBT Staff
JBT Staff June 12, 2020
Updated 2020/06/12 at 10:50 AM

Delhi Corona: देश की राजधानी दिल्ली से कोरोना से जंग की खबर हैरान करने वाली है, अस्पतालों में अफरा तफरी का माहौल है. कहीं बेड नहीं तो कहीं लाशों के बीच में चल रहा है इलाज. अब तक 33 हजार के पास कोरोना संक्रमित पाए गए जबकि 1000 ने इस वायरस के आगे जिंदगी की जंग हार ली.

एक्सपर्ट्स ने अरविंद केजरीवाल की सरकार को साफ आगाह कर दिया है जिस रफ्तार से राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना विस्फोट हो रहा है उससे साफ है कि मिड जुलाई आते आते ढाई लाख दिल्ली में कोरोना से ग्रसित हो जायेंगे जबकि जुलाई के अंत तक यह आकड़ा दोगुने से भी ज्यादा या कहें 5.5 लाख तक या उससे ज्यादा का अकड़ा देखने को मिल सकता है.

एक तरफ दिल्ली के अस्पतालों में जगह नहीं तो दूसरी तरफ खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हाल ही में बोला कि जुलाई तक दिल्ली में 80 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी लेकिन अंदाजा लगाया जाए तो इन 80 हजार बेड का इंतजाम होने के बाद भी दिल्ली में व्यस्था हो पाना चैलेंजिंग है.

फिर दिक्कत है मेडिकल स्टाफ, डॉक्टर्स और नर्सेज की, बेड बनकर तैयार भी हो जाएं तो कोरोना मरीजों का इलाज करने के लिए डॉक्टर्स कहां से लाए जाएं. ऐसे में विकल्प बचता है सम्पूर्ण लॉकडाउन, एडवोकेट अनिर्बान मंडल और वकील पवन कुमार ने इसके लिए याचिका दायर की है जिसपर आज सुनवाई है. तेजी से फ़ैल रहे इस संक्रमण पर काबू पाने लिए अभी तक एक ही इलाज है वह इससे दूर रहना.

देशभर में कोरोना के मामले 3 लाख के आसपास हैं, ब्रिटेन को पीछे छोड़ आज इंडिया 4थे नंबर पर आ गया है जबकि अमेरिका, ब्राजील, रूस टॉप 3 हैं. महाराष्ट्र और दिल्ली की जनता ने इससे बुरी तरह प्रभावित हो चुकी है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.