India News

Priya Ramani Case: एम जे अकबर मानहानि मामले में प्रिया रमानी बरी, पूर्व केंद्रीय मंत्री को लगा बड़ा झटका

Delhi court acquits Priya Ramani: साल 2018 में मीटू कैम्पेन ने इंडिया में भी कई बड़ी हस्तियों की इज्जत का तमाशा करवाया, बहुतों ने खुद को सही साबित करने की हर संभव कोशिश की लेकिन ताजे मामले की बात करें तो पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के हाथों बड़ी निराशा लगी है.

कई बॉलीवुड अभिनेत्रियों के खुलासे के बाद प्रिया रमानी (Priya Ramani) को भी हौंसला मिला और उन्होंने नेता जी MJ Akbar के खिलाफ शिकायत दर्ज कर दी, यौन शोषण का आरोप लगाए लेकिन उन्होंने प्रिया के खिलाफ अपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया था.

पत्रकार को दिल्ली कोर्ट द्वारा बड़ी राहत मिली है, इससे हैश टैग मी टू कैम्पेन (#MeToo) को भी मजबूती मिली है. सोशल मीडिया पर कोर्ट के फैसले का जोरदार स्वागत किया जा रहा है, दोनों पक्षों की तरफ से जोरदार बहसबाजी के बाद आज फैसला पत्रकार के पक्ष में आया है.

यह भी पढ़ें:  COVID-19: कोरोना की दवा रेमडेसिविर को रेमो डिस्यूजा कहने वाले शख्स पर बने मीम, मशहूर है युवक

बता दें भारत में 2018 में मीटू की आंधी आई थी, कुछ बेबुनियाद कहानी वाले जरुर एक्टिव हुए होंगे लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि सामाजिक प्रतिष्ठा वाला शख्स इसमें लिप्त नहीं होगा, अपने नाम, रुतबे व पैसे का इस्तेमाल करने वालों की कमी नहीं है.

इसके बाद 15 अक्टूबर 2018 को मंत्री जी ने पत्रकार प्रिया के खिलाफ बदनाम करने की शिकायत दर्ज की थी, दो दिन बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया था. साल 2017 में पत्रकार प्रिया ने वोग को लिखे खत में नौकरी के लिए इंटरव्यू के दौरान दुर्व्यवहार का आरोप जिस बॉस पर लगाया था वह कोई और नहीं बल्कि पूर्व मंत्री एमजे अकबर ही थे.

यह भी पढ़ें:  Tikri Border Gang Rape: किसान आंदोलन में शामिल युवती के साथ गैंगरेप, नहीं रही कोरोना संक्रमित पीड़िता

अकबर साहब ने उन्हीं के खिलाफ छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कर दी थी, जिसका फैसला आज आ चुका है और प्रिया इसमें बरी हो चुकी हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top