India News

Bihar: 11 साल की छात्रा के बलात्कारी प्रिंसिपल को मिली फांसी की सजा, प्रेग्नेंट हुई तो सामने आई थी करतूत

Bihar Rape Case: बिहार की यह घटना देश के लिए बेहद शर्मनाक है, मामला पुराना है लेकिन सोमवार को प्रदेश की राजधानी सिविल कोर्ट ने जो फैसला सुनाया है उससे कुछ लोगों ने सहमति जाहिर की है.

शिक्षा के मंदिर में एक मासूम को स्कूल का मुखिया ही हवस का शिकार बना लेता है, साल 2018 में जब वह गर्भवती पाई जाती है तो माता-पिता के पांव तले जमीन खिसक जाती है, पता चलता है क्लर्क के सहयोग से एक बार नहीं कई बार इस मासूम का बलात्कार किया गया और इसमें लिप्त कोई और नहीं बल्कि न्यू सेंट्रल पब्लिक स्कूल का प्रिंसिपल ही होता है.

यह भी पढ़ें:  Kapil Sharma Wheelchair: एयरपोर्ट पर व्हीलचेयर पर दिखे कपिल शर्मा , मीडिया ने हाल जानना चाहा तो पड़ी गालियां

सोमवार को सिविल कोर्ट ने फैसला सुनाया कि अपराधी प्रिंसिपल अरविंद कुमार (Arvind Kumar) को फांसी की सजा व 1 लाख जुर्माना देना होगा जबकि उसका मददगार क्लर्क को आजीवन कारावस व 50 हजार का जुर्माना देना पड़ेगा. आज जब पुनः यह केस मीडिया के सामने आया तो इसने हर किसी को झकझोर के रख दिया, कोर्ट ने इसे रेयरेस्ट ऑफ द रेयर केस करार दिया है.

एक रात जब मासूम को पेट दर्द की शिकायत हुई तो मां-बाप उसे हॉस्पिटल ले गए जहां पता चला था कि मात्र 11 साल की यह लड़की पेट से है, लड़की ने फिर आपबीती बताई कि 9 महीनों से उसका स्कूल प्रिंसिपल अपने चेंबर बालिका का बलात्कार कर रहा था, घरवालों ने तुरंत थाने में इसकी शिकायत की लेकिन प्रिंसिपल ने खुद को निर्दोष बताया और साबित करने की कोशिश भी लेकिन वह बाख नहीं पाया.

यह भी पढ़ें:  Aamna Imran: कौन है ऐश्वर्या राय बच्चन जैसी हूबहू ये पाकिस्तानी लड़की, फैंस भी खा रहे हैं धोखा

बच्ची के गर्भपात का अंश व अपराधी का डीएनए मैच होने पर दोषी को कड़ी सजा सुनाई गई है, साथ ही क्लर्क अभिषेक को भी उम्र भर के जेल की चक्की पीसने का हुक्म दिया गया है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top