Bengaluru: मां का हुआ कोरोना से निधन, 9 साल की बेटी ने लिखा ऐसा खत कि आंसू छलक पड़ेंगे

JBT Staff
JBT Staff May 24, 2021
Updated 2021/05/24 at 3:00 PM

Bengaluru: कोरोना महामारी के इस दौर ने देश के कई परिवारों को बर्बाद कर दिया, लोगों ने अपनों को खोया तो अलग संक्रमण के कारण उनका अच्छे से दाह संस्कार भी नहीं कर पाए. बेंगलुरु के इस छोटी बच्ची का पत्र सुनकर दिल गदगद हो उठेगा.

कुशलनगर की 9 साल की हृतिक्षा, मां के चले जाने से बहुत दुखी है, अब उसे इस बात का भी दुःख है कि मां के साथ ही उसकी यादें भी कहीं चली गई हैं. जी हां हॉस्पिटल से जब मां के गुजरने के बाद सामान लौटाया गया तो उसमें मोबाइल फोन मिसिंग था, बेटी की पुकार है कि उसकी मां का फोन अगर मिल जाता तो बड़ी महरबानी होती.

फोन के लिए हृतिक्षा ने खत भी लिखा है, फोन के लिए पत्र लिखने की वजह वह बताती हैं कि उस फोन में मां की बहुत से यादें हैं, मां के साथ कई तस्वीरें व वीडियोज हैं. खत में इन भावुक वजहों को पढ़कर उस मासूम का दर्द का अंदाजा लगाया जा सकता है, मात्र 9 साल में मां से हमेशा के लिए जुदा हो जाना वाकई बहुत दर्दनाक है.

वहीं फोन लौटाने की अपील करने वाली हृतिक्षा के पिता नवीन कुमार ने बताया कि पत्नी को मदिकेरी कोविद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, 16 मई को पत्नी कोरोना से जंग हार गई और अस्पताल वालों ने तुरंत ही सारा सामान तो लौटा दिया था लेकिन इसमें फोन नहीं था.

नवीन एक मजदूर है, उसका कहना है इसी फोन ने बेटी ऑनलाइन पढ़ाई किया करती थी, फिलहाल उसकी ऐसी स्थिति भी नहीं कि वह दूसरा फोन बेटी को दिला सके. हृतिक्षा, खत में लिखती है घर में पापा ममी व उसे कोरोना हुआ था, मां की हालत ज्यादा खराब होने पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया था जबकि वह व उसके पिता घर पर रहकर स्वस्थ हो चुके हैं.

9 साल की मासूम ने बड़ी उम्मीदों से डिप्टी कमिश्नर, विधायक व हॉस्पिटल के नाम यह खत जारी किया है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.