Carmen Greentree: ऑस्ट्रेलियाई महिला ने जिस कश्मीरी शख्स पर लगाया बलात्कार का आरोप, उसके बयानों ने उठाए सवाल

JBT Staff
JBT Staff July 11, 2020
Updated 2020/07/11 at 10:14 AM

Carmen Greentree’s rape story real or fabricated: भारत में बाहर देश से आए मेहमानों का खूब सम्मान होता है यही वजह है कई देशों में भारत का कल्चर व यहां की संस्कृति विदेशों में पसंद की जाती है लेकिन हर मुल्क की भांति इस देश में भी दरिंदों की कमी नहीं है.

ऑस्ट्रेलिया की 37 वर्षीय महिला ने अपने किताब में जो खुलासा किया है उसे पढ़कर हर भारतीय का सर शर्म से झुक जाएगा. साथ ही आरोपी रफीक की बात सुनें तो इस कहानी पर संदेह भी होता है, रफीक ने कहा कि महिला की यह कहानी पूरी तरह मनगढंत है, उसने बुक की पब्लिसिटी के लिए यह कहानी बनाई है.

क्या है कैरमैन का आरोप?

घटना के वक्त कैरमैन ग्रीनट्री महज 22 वर्ष की थी कश्मीर की वादियों का लुत्फ लेने के लिए उसने बोट बुक की उसे इस बात का अंदाजा नहीं था कि स्वर्ग जैसी खूबसूरत जगह मैं उसे कोई शैतानी ताकत का भी सामना करना पड़ सकता है.

जी हां सर्फर कैरमैन ने अपनी किताब में खुलासा किया है कि जब किसी कश्मीरी ने उसे 15 साल पहले बंधक बना लिया था तो उसने कभी कल्पना नहीं की थी कि वह अब फिर कभी बाहरी दुनिया का लुत्फ उठा पाएंगी.

कश्मीरी शख्स ने न सिर्फ उस महिला को बंधक बनाया बल्कि 2 महीने तक उसके साथ बलात्कार करता रहा, महिला ने कश्मीरी शख्स पर आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि वह उसे इस्लाम कबूल करवाने की भी जिद पर अड़ा रहता था.

साल 2004 में भारत दौरे पर आई ऑस्ट्रेलियन आज भी उन दो महीनों को याद कर सकते रोने लगती है. अ डेंजरस परसुइट ऑफ हैप्पीनेस नाम की किताब में ग्रीनट्री ने यह भी बताया कि कैसे वह उस दरिंदे से आजाद हुई उसका कहना है एक दिन वह किसी जानने वाले से कांटेक्ट कर पाई और जैसे तैसे अपने हालात बता दी.

तभी उसे मालूम हुआ कि 2 महीने से लापता कैमरन की तलाश अभी भी जारी है हाउसबोट में कैद कैमरन को कश्मीरी शख्स ने ऐसी जगह पर कैद कर कर रखा था अगर वहां से भागने की भी कोशिश करती तो आर्मी उसे आतंकी समझ कर मार देती.

देखें क्या कहता है आरोपी:

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.