India News

Assam: कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर हॉस्पिटल ले गई थी बहू, नहीं रहे ससुर

Assam: कोरोना की दूसरी लहर ने देश को कई तस्वीरें दिखाई, जहां कुछ लोग अपने सगे मां-बाप से किनारा करते नजर आए तो कुछ ने अनजान लोगों की भी बढ़ चढ़कर मदद की. सोशल मीडिया पर इन दिनों निहारिका नाम की बहू खूब सुर्खियां बटोर रही हैं.

लोगों का कहना है ‘बहू हो तो निहारिका जैसी’, कलयुग में जहां हर तरफ सास-बहू या ससुराल वालों की अनबन की खबरें आम हैं वहां निहारिका जैसी महिला की तस्वीरें देखकर सुकून पहुंचता है. मामला असम के नगांव का है जहां निहारिका दास नाम की बहू, ससुर थुलेश्वर दास को पीठ पर उठाकर इलाज के लिए ले जाती है.

निहारिक जब अपने ससुर को अस्पताल के लिए ले जा रही थी तो हर कोई फोटो क्लिक करने लगा, मदद करने के लिए हाथ बढ़ाने के बजाय हर कोई निहारिका की दिलेरी देखता रहा. ससुर में 2 जून को कोरोना लक्षण देखे गए थे, घर से ऑटो की सुविधा नहीं होने की वजह से 2 किलीमीटर दूर तक स्वास्थ्य केंद्र तक ले जाने के लिए वह ससुर को अपने कंधों के बल पर ऑटो स्टैंड ले जाती है.

बताया जा रहा है सिलीगुड़ी में पति काम करता है, उनका एक 6 साल का बेटा है. आदर्श बहू निहारिका दास ने पति की गैरमौजूदगी में बेटे का क्या खूब फर्ज निभाया है, बहू की उम्र 24 साल बताई जा रही है. वहीं अब खबर आ रही है कि कोरोना संक्रमित ससुर की कोरोना से मौत हो गई है, सोमवार 7 जून को उन्होंने आखिरी सांस ली.

निहारिका खुद भी कोरोना पॉजिटिव हैं, लाख कोशिशों के बाद भी वह अपने ससुर को नहीं बचा पाई.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top