National

अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, 1000 इलेक्ट्रिक बसें लाने वाला पहला राज्य होगा दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बड़ी घोषणा कर दी है. केजरीवाल ने दिल्ली में 1000 इलेक्ट्रिक बसें चलाने का ऐलान कर दिया है. अगर केजरीवाल की बात सही साबित हुई, तो ऐसा करने वाला दिल्ली पहला राज्य बन जाएगा.

तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिली करारी हार को अन्य पार्टियां पूरी तरह से भुनाना चाहती हैं. विपक्षी पार्टियों बीजेपी को पछाड़ने का एक भी मौका नहीं छोड़ना चाहती. इसी को मद्देनजर रखते हुए दिल्ली ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्लीवासियों के लिए कई बड़ी योजनाएं लाने की तैयारी कर ली है.

केजरीवाल ने हाल ही में दिल्ली में एक साथ 1000 इलेक्ट्रिक बसें लाने का दावा किया है. दिल्ली डायलॉग और डेवलपमेट कमीशन द्वारा दिल्ली इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी 2018 पर सुझावों के लिए आयोजित हुई चर्चा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने ये ऐलान किया कि जल्द ही राज्य में इलेक्ट्रिक बसों का संचालन शुरू होगा

यह भी पढ़ें:  Narendra Modi Biopic: विवेक ओबरॉय के 9 अवतार जारी, फैन्स की मिली जुली प्रतिक्रिया

केजरीवाल ने कहा, ‘प्रदूषण दिल्ली की बड़ी समस्या बन चुका है. अगर हम सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को मजबूत करें, तो लोग निजी वाहनों को छोड़कर इसका उपयोग करेंगे.

केजरीवाल ने कहा, ‘दिल्ली डायलॉग और डेवलपमेट कमीशन का यह कदम तारीफ योग्य है. दिल्ली डायलॉग और डेवलपमेट कमीशन ने इलेक्ट्रिक व्हीकल उपयोग करने वाले दूसरे देशों व देश के अन्य राज्यों के प्रयोग का अध्ययन किया है. एक साल के भीतर दिल्ली इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी 2018 को तैयार किया गया है. प्रदूषण से निपटने के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल का प्रयोग समय की मांग है. अब इस दिशा में हम सभी को मिलकर काम करना है.’

यह भी पढ़ें:  सपा के महासचिव रामगोपाल यादव का विवादित बयान, बोले- पुलवामा हमला साजिश था, वोट के लिए जवान मारे गए

केजरीवाल ने इलेक्ट्रिक व्हीकल के विशेषज्ञों से अपील की कि वह इस पर विचार और सुझाव दें. इससे इस नीति को सही ढंग से लागू करने में सरकार को मदद मिलेगी. उन्होंने इलेक्ट्रिक व्हीकल निर्माताओं से इसकी तकनीक किफायती करने के लिए भी आग्रह किया.

केजरीवाल के साथ मौजूद रहे परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि सरकार इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी को सही ढंग से लागू करने पर हर संभव प्रयास कर रही है. सरकार की सबसे बड़ी चुनौती बसों के लिए चार्जिग स्टेशन स्थापित करने की है.

ऐसा माना जा रहा है कि अगर आने वाले चुनाव से पहले केजरीवाल सरकार इस योजना को सफल बनाती है, तो आम आदमी पार्टी के लिए इलेक्ट्रिक बसें बड़ा चुनावी मुद्दा बन सकती है. आईआईटी मद्रास के प्रोफेसर अशोक झुनझुनवाला ने दिल्लीकेजरीवाल सरकार की इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी की सराहना करते हुए कहा कि देश में किसी और राज्य ने इतनी बेहतर पॉलिसी नहीं बनाई है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


To Top