India News

IAS Arti Dogra: साढ़े 3 फिट की हाईट को IAS आरती डोगरा ने नहीं बनने दिया रोड़ा, आज दुनिया कर रही है सलाम

IAS Arti Dogra: उत्तराखंड का नाम इन दिनों दुनियाभर में छाया हुआ है, वजह है यहां के बुद्धिजीवियों की उड़ान. विपिन रावत, अजित डोभाल से लेकर आईएस ऑफिसर आरती डोगरा ने न सिर्फ बड़े पदों पर पहुंचकर नाम रोशन किया है बल्कि ईमानदारी और सटीकता की जो मिशल पेश की है उसे दुनिया सलाम कर रही है.

3 फीट 6 इंच वाली महिला ऑफिसर आरती डोगरा (Arti Dogra) ने समाज में जो प्रेरणा घोल दी है वह सभी के लिए ध्यान आकर्षित करने वाली बात है, खासकर महिलाओं के लिए उन्होंने बहुत बड़ी मिशाल कयाम की है. ये दुनिया ऐसी है जहां इंसान की खूबसूरती खासकर महिला की खूबसूरती की परिभाषा कुछ और ही है, इसकी परवाह करने वाले अधिकतर लोग हीन भावना का शिकार हो जाते हैं और आत्मविश्वास खो बैठते हैं.

यह भी पढ़ें:  Rafale: अंबाला एयरबेस पर ही क्यों लैंड करेंगे राफेल लड़ाकू विमान, जानिए वजह

आत्मविश्वास खोने की वजह एक नहीं है, समाज में इस तरह उपहास उड़ाया जाता है कि दम घुट जाए, लेकिन इन बातों को दरकिनार करने वाला ही इतिहास रचता है. कोरोना काल में अपने कामों के लिए चर्चा में आ चुकी IAS ऑफिसर आरती डोगरा की कहानी अपने आप में एक संस्थान है. समाज से मिल रहे तानों के बावजूद उन्होंने जी मुकाम हांसिल किया है, वह आम बात नहीं.

आरती डोगरा की स्कूलिंग

उनके पैदा होते ही डॉक्टर्स ने मां-बाप को बता दिया था कि उनकी बेटी सामान्य बच्चों की तरह नहीं हैं. फिर वो बड़ी हुई तो जान पहचान वाले लोग कहने लगे उन्हें दिव्यांग बच्चों के स्कूल में पढ़ाओ, स्पेशल चाइल्ड केयर होम छोड़ आओ. पढ़े लिखे मां-बाप ने समाज की कभी नहीं सुनी अपनी बेटी को सामान्य तरीके से पाला.

यह भी पढ़ें:  Vikram Joshi Murder: सीएम योगी का पत्रकार के परिवार को 10 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान, औरत को नौकरी

पिता कर्नल राजेंद्र डोगरा सेना में अधिकारी तो मां कुमकुम, स्कूल प्रिंसिपल हैं. उन्होंने बेटी को देहरादून के वेल्हम गर्ल्स स्कूल से पढ़ाई करवाई, इसके बाद वह दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से ग्रेजुएट हुई, इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन किया. मन लगा के UPSC की तैयारी की और नतीजा आज सभी के सामने मिशाल के तौर पर है.

2006 बैच की IAS अधिकारी हैं आरती

जिस छोटी हाईट का मजाक लोग बनाया करते थे, उसने असली हाईट की परिभाषा को बताया. हाल ही में उन्हें राजस्थान के अजमेर की नई जिला अधिकारी के तौर पर नियुक्ति किया गया है, इससे पहले वह अजमेर की SDM के पद पर कार्यरत थी.

यह भी पढ़ें:  Amar Singh Dies: दिग्गज नेता अमर सिंह का हुआ निधन, सिंगापुर के हॉस्पिटल में आखिरी सांस

सोशल मीडिया पर उनके काम की खूब प्रशंसा हो रही है, सोशल मीडिया पर भी वह एक्टिव रहती हैं और कई क्षेत्रों की नॉलेज शेयर करती हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



To Top