Sawan Shivratri 2021 Date, Vrat: आज है सावन शिवरात्रि, जानें व्रत व शिव पूजन का महत्व

JBT Staff
JBT Staff August 6, 2021
Updated 2021/08/06 at 9:36 AM

Sawan Shivratri 2021 kab hai Date, Vrat, Puja Muhurat: सावन का पावन माह तो शिव की आराधना के लिए ही जाना जाता है, रविवार 25 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो गया था या कहें अगले ही दिन सावन का पहला सोमवार भी पड़ा था, शिव भक्तों के लिए सावन के सभी सोमवार खास हैं, वे इस दिन शिवजी का व्रत रखकर जल चढ़ाते हैं.

शिवजी को समर्पित श्रावण मास या सावन माह (Shravan or Sawan) में सात्विक आहार लेना चाहिए, यूं तो सनातन धर्म में मांस-मदिरा का सेवन नहीं किया जाता लेकिन सावन में धर्म को मानने वाले इसे छूते भी नहीं हैं, साथ ही प्याज-लहसुन से भी दूरी बनाए रखते हैं. सावन में सोमवार के दिनों के अलावा सावन शिवरात्रि (Sawan Shivratri) के दिन भी भगवान शिव की आराधना की जाती है.

कब है सावन शिवरात्रि (Sawan Shivratri 2021 Kab Hai)

सावन शिवरात्रि (Sawan Shivratri), सावन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है, इस साल कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि 6 अगस्त को आ रही है. यह तिथि 6 अगस्त की शाम 6 बजकर 28 से प्रारम्भ हो जाएगी जबकि अगले दिन या कहें 7 अगस्त की शाम 7 बजकर 11 मिनट पर समाप्त हो जाएगी.

सावन शिवरात्रि का व्रत (Sawan Shivratri Vrat) रखने वाले शिव भक्तगण के लिए व्रत पारण का शुभ समय 7 अगस्त, सुबह 5 बजकर 46 मिनट से दोपहर के 3 बजकर 45 मिनट तक का है. शिवरात्रि का दिन 6 अगस्त को पड़ रहा है लेकिन व्रत पारण के लिए शुभ समय अगले दिन का है हालांकि अगला दिन यानि 7 अगस्त, शनिवार शाम तक चतुर्दशी है.

कैसे मनाई जाती है सावन शिवरात्रि

सावन के सोमवार ही नहीं सावन शिवरात्रि पर भी अगर व्रत रखा जाए तो भगवान शिव, भक्तों से खुश होते हैं. इस दिन उनकी उपासना के बाद जल चढ़ाया जाता है, सावन शिवरात्रि के दिन ध्यान दें कि प्याज टमाटर, लहसुन व किसी भी खट्टी चीज का सेवन न करें, भगवान शिव को यह महीना बड़ा प्रिय है, अतः इस महीने उनकी आराधना से भक्तों की मनोकामना पूरी होती है.

शिव पूजन का सही समय (Shiv Pujan on Sawan Shivratri)

सावन शिवरात्रि (Sawan Shivratri 2021 kab hai) के दिन शिव पूजन के लिए निशिता काल शुभ मुहूर्त बताया गया है, जो 7 अगस्त की रात 12 बजकर 6 मिनट से प्रारंभ हो रहा है, 43 मिनट पूजा का सही समय है अर्थात 7 अगस्त को 12 बजकर 48 मिनट तक शिव पूजन का समय रहेगा. कुछ खास बातों को ध्यान में रखने की बात करें तो सावन शिवरात्रि पर भक्तों को सात्विक भोजन लेना चाहिए, ब्रह्माचर्य का भी पालन किया जाता है.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.