Life Style

Sadbhavana Diwas 2021: क्या है सद्भावना दिवस या अक्षय उर्जा दिवस का इतिहास व उद्देश्य

Sadbhavana Diwas 2021 Date, History, message: सद्भावना दिवस को समरसता दिवस या राजीव गांधी अक्षय उर्जा दिवस के रूप में भी जाना जाता है, इस दिन देश के लोगों को राष्ट्रीय एकता का संदेश दिया जाता है.

कब व क्यों मनाया जाता है सद्भावना दिवस (Sadbhavana Diwas 2021 Kab Hai)

भारत में सद्भावना दिवस (Sadbhavana Diwas), प्रत्येक वर्ष 20 अगस्त को मनाया जाता है, यह तारीख पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की जन्मतिथि है. 40 वर्ष की उम्र में देश की कमान संभालने वाले भारतीय इतिहास के सबसे युवा पीएम राजीव गांधी को विजनरी लीडर माना जाता था, 20 अगस्त का दिन या कहें राजीव गांधी जयंती सद्भावना दिवस व राजीव गांधी अक्षय उर्जा दिवस (Rajiv Gandhi Akshay Urja Diwas) के रूप में मनाई जाती है.

पूर्व प्रधानमंत्री (Rajiv Gandhi) की स्मृति में मनाया जाने वाले इस दिन का संदेश है कि देश में सभी धर्मों के लोग मिलजुल कर रहें, युवा प्रधानमंत्री की सरकार का मिशन था कि लोगों को दूसरों के प्रति अच्छी भावना रखने के लिए प्रेरित करना, सभी धर्मों के लोगों के बीच भाईचारे, सामुदायिक समरसता, एकता, प्यार व अपनापन जगाना था, इसलिए इस इवेंट को समरसता दिवस के नाम से भी जाना जाता है.

यह भी पढ़ें:  Janmashtami Vrat 2021: जानें श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत का महत्व, भूलकर भी इस दिन न करें ये काम

इस दिन देश की राष्ट्रीय पार्टी कांग्रेस पार्टी जगह जगह राजीव गांधी के फोटो पर पुष्प अर्पित करती है, जबकि केक काटकर भी खिलाया जाता है. पार्टी के जिम्मेदार नेता राजीव गांधी के सपनों के भारत का मेसेज समर्थकों व लोगों तक पहुंचाते हैं, उनके कार्यकाल में सामाजिक व आर्थिक कार्यों के प्रति जिस दृष्टिकोण को देखा गया उसी की वजह से उन्हें विजनरी लीडर कहा जाने लगा.

सद्भावना दिवस पर ली जाती है प्रतिज्ञा (Sadbhavna Diwas 2021 Oath)

इस साल देश पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 77वीं जयंती (Rajiv Gandhi Birth Anniversary) मनाने जा रहा है, इस दिन प्रतिज्ञा ली जाती है ‘मैं ये पूरी गंभीर प्रतिज्ञा लेता हूं कि मैं जाति, क्षेत्र, धर्म और भाषा को बिना ध्यान दिए भारत के सभी लोगों की भावनात्मक एकात्मकता और सद्भावना के लिये कार्य करूंगा और मैं कसम खाता हूं कि बिना हिंसा के संवैधानिक साधनों और बातचीत के द्वारा एक-दूसरे के बीच की दूरियों को अवश्य समाप्त करूंगा‘.

यह भी पढ़ें:  Hariyali Teej 2021 Date, Status, Images, SMS: Hariyali Teej Kab Hai (जानें पूजा विधि, शुभ मुहूर्त)

कैसे मनाया जाता है सद्भावना दिवस (Sadbhavna Diwas 2021 Celebration)

इस दिन कांग्रेस पार्टी के समर्थकों में उत्साह देखने को मिलता है, कई जगहों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित कराए जाते हैं, राजीव गांधी की दूरदृष्टि को ध्यान में रखते हुए इस दिन कई तरह की प्रतियोगिता भी कराई जाती हैं. राजीव गांधी संस्था व ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी द्वारा शांति, सामुदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने वालों को सद्भावना दिवस पर ‘राजीव गांधी राष्ट्रीय सद्भावना पुरुस्कार (Rajiv Gandhi National Sadbhavana Award)’ दिया जाता है. लता मंगेशकर, मदर टेरेसा, दिलीप कुमार, सुनील दत्त जैसे कई बड़े हस्तियों को इस अवार्ड से नवाजा गया है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top