Independence Day 2021 Speech: हिंदी में 75वें स्वतंत्रता दिवस पर दें दमदार भाषण, इस तरह करें तैयार

JBT Staff
JBT Staff August 7, 2021
Updated 2021/08/07 at 1:03 PM

Independence Day Speech 2021 Hindi: भारत इस साल 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है, अंग्रेजों से मिली आजादी का जश्न हर साल ही बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. इस दिन स्वतंत्रता सेनानियों की शहादत व संघर्ष को याद किया जाएगा, सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ ही भाषण व निबंध प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती हैं.

आजाद भारत के इतिहास का सबसे बड़ा दिन देश-विदेश में रह रहे भारतीयों द्वारा भी मनाया जाता है, जिन अंग्रेजों ने भारत पर 200 साल तक राज किया था उनके ही मुल्क में भारतवासी आज आजादी का जश्न मनाते हैं, यह आधुनिक भारत की ताकत का परिचय है, आज देश हर क्षेत्र में बड़े मुल्कों की बराबरी कर रहा है, ऐसे मौके पर स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर उन्हें पुष्प अर्पित किए जाते हैं.

स्वतंत्रता दिवस भाषण 2021 (Independence Day Speech in Hindi)

स्वाधीनता या स्वतंत्रता दिवस समारोहों में सबसे महत्वपूर्ण रहता है कि स्वतंत्रता सेनानियों को किस तरह आज के युवा याद करते हैं, उनके बलिदान के बारे में युवा पीढ़ी को मालूम होना जरुरी है तो कोशिश ये की जाए कि भाषण में लाला लाजपत राय, भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, महात्मा गांधी, चंद्रशेखर आजाद आदि के प्राणों की आहुति के बारे में सभी को बताना और उन्हें नमन करना चाहिए.

इस तरह दें स्कूल में स्वतंत्रता दिवस की स्पीच (Independence Day 2021 Speech in School)

आदरणीय प्रधानाचार्य महोदय व मेरे प्रिय गुरुजन, सहपाठी, सीनियर्स व प्यारे जूनियर्स को मेरा प्यार भरा नमस्कार. आज का दिन आजादी के जश्न में डूबने का है लेकिन ये आजादी किन महान विभूतियों की वजह से नसीब हुई है, यह भी याद करना बेहद जरुरी है.

मैं सभी फ्रीडम फाइटर्स को कोटि कोटि प्रणाम करता हूं, उनके बलिदान के बारे में जितना बोला जाए कम है, साथ ही देश के वे निडर लोग जिन्होंने ब्रिटिश सरकार से छुटकारा पाने के लिए इन महान लीडर्स व क्रांतकारियों का साथ दिया, हजारों की तादात में सताए गए और मारे गए, उन सबको को भी मेरा सलाम.

उन सभी के बदौलत आज मैं और आप एक स्वाधीन देश के वासी हैं, आज हमारा देश शक्तिशाली देशों की बराबरी कर रहा है, इसी साल आधुनिक भारत में INS Vikrant जैसे स्वदेशी विमानवाहक युद्धपोत का निर्माण के ट्रायल चल रहा है, 23 करोड़ की लागत में बना यह मेड इन इंडिया विमान साबित करता है कि आजाद देश किस हद तक तरक्की कर चुका है, इससे पहले फ्रांस से हुए 59 हजार करोड़ में 36 लड़ाकू विमानों से भी देश की ताकत बढ़ी है.

हम जितने भी लोग यहां मौजूद हैं सभी वादा करें कि तरक्की कर रहे महान विभूतियों के देश में हम अपना फर्ज पूरे दिल से निभाएं, बूंद बूंद से घड़ा भरता है, इसी तरह सभी अपना रोल ईमानदारी से निभाएंगे तो देश बुलंदियां छूता रहेगा, इन्हीं शब्दों के साथ अपने भाषण को विराम देता हूं धन्यवाद.

बड़े मंच पर दें स्वतंत्रता दिवस का भाषण (15 August 2021 speech in hindi)

भारत माता की जय, भारत माता की जय, भारत माता की जय, सभी को मेरा प्रणाम व सबसे बड़े राष्ट्रीय पर्व की अनंत शुभकामनाएं व बधाई. जैसा कि सभी को मालूम है कि आज के दिन ब्रिटिश राज से मिली आजादी की सालगिरह का दिन है, आज के भारत या कहें आधुनिक भारत का बुनियादी दिन प्रत्येक भारतीय के लिए जश्न का दिन है.

भारत की अविश्वसनीयता व अखंडता को पुनः हांसिल करने के लिए जिन वीर सपूतों ने जान की बाजी लगाई, फांसी पर चढ़ गए व कलम-कानून की मदद से बड़ी लड़ाई लड़ी उन सभी को मेरा प्रणाम. देश के दिल में जान डालने वाले सभी महान विभूतियों की देशभक्ति को आज याद किया जाए उनके साहस व संघर्ष को आज सेलिब्रेट किया जाए.

इस दिन 1947 में देश की राजधानी दिल्ली के लाल किला में पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु ने तिरंगा फहराया था, ऐतिहासिक दिन का यह पल हर भारतीय के सर को गर्व से ऊंचा कर देता है, यही वजह है तब से लाल किले पर देश के प्रधानमंत्री द्वारा झंडा फहराया जाता है, इस तरह सुबह से इस दिन को मनाने का सिलसिला शुरू हो जाता है.

मेरा ये मानना है कि स्वतंत्रता दिवस को सेलिब्रेट करने का उद्देश्य एक तो स्वतंत्रता सेनानियों को याद करना है जबकि दूसरा ये कि यंग जनरेशन को जागरूक करना है कि आखिर किस तरह यह आजादी हमें मिली है, हम सभी मिलकर और भी बेहतर कल इस देश का बना सकते हैं, अतः हम संकल्प लें कि हम जिस भी क्षेत्र में सक्रिय हैं वहां पूर्ण रूप से समर्पित होकर काम करें और देश की दिन दोगुनी रात चौगनी तरक्की में सहयोग करें.

15 अगस्त 1947 से लेकर आज 75वां स्वतंत्रता दिवस आ चुका है, पीछे मुड़कर देखा जाए तो आजाद होने व 26 जनवरी 1950 में स्वराष्ट्र घोषित होने के बाद स्वाधीन भारत ने खेल, तकनीकी, शिक्षा, रक्षा आदि में देश ने बहुत तरक्की की है, शक्तिशाली देश अमेरिका तक कई मामलों में देश की मदद लेता है. साथ ही हमें यह भी संकल्प लेना चाहिए बढ़ते क्राइम, बेरोजगारी, गरीबी भुखमरी आदि से निरंतर लड़ना होगा.

आज हमारे पास अभिव्यक्ति की आजादी, बदलाव लाने की ताकत, अपना नेता चुनने से लेकर व हर चीज की आजादी है, यह आजाद भारत की सबसे बड़ी ताकत, इस ताकत को सकारात्मक ढंग से इस्तेमाल कर हमें देश सेवा करनी चाहिए, मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं हमेशा एक अच्छे नागरिक का फर्ज निभाऊंगा व आप भी मुझसे यह वादा करें. ज्यादा न बोलते हुए यहीं अपने शब्दों को विराम देता हूं, धन्यवाद. जय हिन्द, जय भारत. वन्दे मातरम्, वन्दे मातरम्, वन्दे मातरम्.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.