Life Style

Ganesh Chaturthi 2021 Date: कब है गणेश चतुर्थी 2021, जानें गणेश पर्व का महत्त्व

Ganesh Chaturthi 2021 Kab Hai, Date, time: गणेश पर्व पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है, इसका बड़ा महत्त्व है. हिंदू धर्म में भगवान गणेश की पूजा को अहम स्थान दिया गया है, किसी भी शुभ कार्य से पहले उनकी पूजा की जाती है और फिर उन्हें भोग चढ़ाया जाता है.

भाद्रपद माह में पड़ने वाला यह दूसरा बड़ा पर्व है, इससे पहले भाद्रपद माह की अष्टमी तिथि को भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव अर्थात जन्माष्टमी या गोकुलाष्टमी का पर्व व्रत रख कर बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. वहीं भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को ‘गणपति बप्पा’ की पूजा अर्चना के साथ घर में मूर्ति स्थापना की जाती है.

देश के कई महानगरों में गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) की अलग ही झलक देखने को मिलती है, मुंबई की सड़कों पर तो गणेश पर्व के दौरान सिनेमा के सितारों का मेला भी लगता है, वे मूर्ति विसर्जन के लिए घरों से निकलते हैं. इस पर्व का बेसब्री से इंतजार कर रहे गणेश भक्तों को बता दें भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक अगस्त-सितम्बर में पड़ती है.

यह भी पढ़ें:  Nag Panchami 2021 Kab Hai, Date: कब है नाग पंचमी 2021, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

गणेश चतुर्थी कब है (Ganesh Chaturthi 2021 Kab Hai)

हिंदू पंचांग के अनुसार गणेश चतुर्थी का पर्व भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है, अंग्रेजी कैलेंडर को देखें तो यह तिथि कभी अगस्त तो कभी सितम्बर में आती है. जैसे कि पिछले साल को यह तिथि 22 अगस्त को पड़ी थी, इस साल 10 सितंबर (Ganesh Chaturthi 2021) को गणेश चतुर्थी के साथ ही गणेश पर्व की शुरुआत होगी.

सावन माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी अगर मंगलवार को पड़े तो इसे अंगारकी गणेश चतुर्थी कहा जाता है, इसका व्रत रखते हैं, यह तारीख 27 जुलाई 2021 को पड़ी थी जबकि भाद्रपद में पड़ने वाली गणेश चतुर्थी का पर्व बड़ा माना जाता है इस दिन रिस्ट्रिक्टेड छुट्टी होती है, देश के कई राज्यों में अवकाश रहता है.

यह भी पढ़ें:  Rakhi 2021: गुजरात के जौहरी ने तैयार की गोल्ड-सिल्वर की राखी, इस साल से राखी पर्व होगा और भी शानदार

जानें गणेश चतुर्थी का महत्त्व (Why is Ganesh Chaturthi Celebrated)

भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी भगवान शिव व मां पार्वती के पुत्र गणेश जो को समर्पित है, इस दिन गणेश चतुर्थी मनाई जाती है जबकि इसी के साथ ही शुरू हो जाता है गणेश पर्व जो पूरे 10 दिन मनाया जाता है. इन दस दिनों में गणेश जी की पूजा आराधना की जाती है, उन्हें संकट हरने वाला माना जाता है इसलिए घर में उनकी प्रतिमा या मूर्ति स्थापित की जाती है, इससे घर में सुख समृद्धि आती है.

कब होगा गणेश जी का मूर्ति विसर्जन (Ganesh Murti Visarjan)

दस दिन के इस पर्व को धूमधाम से मनाने के बाद 11वें दिन या कहें अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी की मूर्ति का विसर्जन किया जाता है. कोरोना महामारी के चलते इस पर्व के संबंध में सरकार गाइडलाइन जारी कर सकती हैं, और वर्षों के भांति इस साल इसे मनाना संभव नहीं लगता है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top