Life Style

Ekadashi in August 2021: अगस्त 2021 में 2 एकादशी व्रतों का जानें महत्व, तिथि व पूजा विधि

Ekadashi in August 2021: श्रावण माह का आधा से ज्यादा हिस्सा अगस्त महीने में पड़ता है रक्षा बंधन, जन्माष्टमी सहित कई बड़े त्योहारों के साथ दो एकादशी भी इस महीने पड़ रहे हैं. पहले एकादशी का व्रत पापों से मुक्त कराता है तो दूसरा पुत्र की इच्छा पूरी करता है.

अगस्त महीने की शुरुआत में कामिका एकादशी (Kamika Ekadashi in August) का व्रत पड़ रहा है, इस दिन भगवान विष्णु की उपासना की जाती है. यह हिंदू धर्म का व्रत त्योहार है, बड़े व्रत त्योहारों में गिना जाता है क्योंकि इस दिन विष्णु की विधिवत आराधना से इंसान पाप मुक्त हो जाता है.

यह भी पढ़ें:  Muharram 2021 Date: मुहर्रम कब है, क्या है आशुरा हिजरी, कब शुरू होगा नया इस्लामिक वर्ष

विष्णु भगवान के शंख, चक्र गदाधारी स्वरूप को इस दिन पूजा जाता है, हिंदू पंचांग के अनुसार श्रावण की कृष्ण पक्ष की एकादशी अगस्त माह के 4 तारीख (Kamika Ekadashi on 4 August) को आ रही है. इस दिन व‍िष्‍णु जी के गदाधारी अवतार को दक्षिणावर्ती शंख में गंगा जल भरकर स्नान करने से लक्ष्मी मां की भी विशेष कृपा होती है.

कहा जाता है कर्ज से परेशान हो चुका व्यक्ति कामिका एकादशी के दिन विधि विधान से भगवान विष्णु की पूजा करता है तो कुछ राहत के संयोग बनते हैं, श्री सूक्त पाठ अवश्य करें जिससे माता लक्ष्मी भी कृपा बरसाएंगी. भगवान विष्णु को दूध में केशर मिलाकर अभिषेक करने से मनवांछित फल मिलता है.

यह भी पढ़ें:  Teachers Day 2021 Wishes, Quotes, Images: जानें कब व क्यों मनाया जाता है शिक्षक दिवस, शेयर करें SMS, Quotes

श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को पुत्रदा एकादशी (Putrada Ekadashi) का व्रत त्योहार मनाया जाएगा, इस दिन भी श्रीहरि या कहें भगवान विष्णु की आराधना की जाती है, यह सुहागिनों के लिए बड़ा दिन है, वे इस दिन पुत्र प्राप्ति के लिए भगवान विष्णु की विधि विधान से पूजा करती हैं.

श्रावण पुत्रदा एकादशी की तिथि अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक 18 अगस्त (Putrada Ekadashi on 18 August) को आ रही है, भगवान विष्णु की आराधना के साथ साथ इस दिन श्री कृष्ण भगवान के बाल स्वरूप की भी आराधना की जाती है.

सुहागिनों के अलावा निःसंतान दंपति भी इस दिन व्रत को रखकर संतान प्राप्ति व उसकी लंबी उम्र की कामना करते हैं. एकादशी तिथि 18 अगस्त के दोपहर 3 बजकर 20 मिनट से शुरू हो रही है, रात 1 बजकर 5 मिनट पर तिथि का समापन हो जाएगा.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top