India News

World Heritage Sites in India List 2021: इन भारतीय स्थलों को वैश्विक विरासत सूची में मिली जगह

World Heritage Sites in India in Hindi: प्राकृतिक व सांस्कृतिक जगहों की बात आए तो भारत की खूबसूरती व अमिट इतिहास की बात न हो ऐसा हो नहीं सकता है, एक के बाद एक अब UNESCO की लिस्ट में भी देश के 40 स्थलों की सूची बन चुकी है, 2014 से अब तक दस स्थल इसमें नए हैं.

यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स (UNESCO World Heritage Sites) की लिस्ट में भारत के 40 स्थल शामिल हैं, 40 वाली सूची अपने आप में एक नया सामान्य ज्ञान है क्योंकि इसी साल या कहें 2021 में यूनेस्को के 44वें सत्र में तेलंगाना का रामप्पा मंदिर व गुजरात के कच्छ स्तिथ हड़प्पाकालीन महानगर धोलावीरा इसमें 2 नए नाम शामिल हुए हैं.

हिस्ट्री विषय में रूचि रखने वाले इन जगहों की सही से जानकारी जुटा सकते हैं जबकि एसएससी, बैंकिंग आदि की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स करंट अफेयर्स से मुखातिब हो सकते हैं. प्रश्न पूछा जा सकता है यूनेस्को के 44वें सत्र में देश के कौन से 2 नए स्थल सेलेक्ट हुए हैं. बता दें इससे पहले 1983 से लेकर 2019 तक 38 प्राकृतिक, सांस्कृतिक व मिश्रित जगहों को सूची में स्थान मिला है.

भारत की यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स (UNESCO World Heritage sites in India)

अगस्त 2021 तक भारत के 40 स्थानों को यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स (UNESCO World Heritage Sites) में शामिल कर दिया गया है. जिसमें सबसे पहले अजंता की गुफाएं हैं और हाल ही में 27 जुलाई 2021 को गुजरात के धोलावीरा को इसमें शामिल किया गया.

1- अजंता गुफाएं

साल 1983 में जब UNESCO द्वारा पहली बार भारत की ओर नजर घुमाई गई तो 4 स्थल वैश्विक विरासत की लिस्ट में शामिल हुए थे. इनमें से पहला नाम था ‘अजंता गुफाएं’ जो महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में पड़ती हैं. बौद्ध रॉक-कट गुफा स्मारकों के लिए जानी जाती हैं, भगवान बुद्ध की कहानियों से संबंधित पेटिंग्स व कलाकृतियों के लिए अजंता गुफाएं (Ajanta Caves) फेमस हैं.

2- आगरा किला

आगरा किला (Agra Quila or Agra Fort), उत्तर प्रदेश के आगरा में है, यह भी UNESCO द्वारा साल 1983 में वैश्विक विरासत की लिस्ट में शामिल किया गया था. मुगल साम्राज्य में बनी संरचनाओं की अनूठी कला के लिए यह फेमस है. मुगल वंश के सम्राटों का मुख्य रूप से रहन सहन यहीं हुआ करता था, बाद में 1638 में शाहजहां से राजधानी दिल्ली शिफ्ट कर दी थी.

3- एलोरा गुफाएं

अजंता गुफाएं की तरह एलोरा गुफाएं (Ellora Caves) भी महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित हैं, यहां भगवान बुद्ध के अलावा जैन व हिंदू मंदिर-मठों, पहाड़ियों की संरचना देखने लायक है. यह स्थल भी साल 1983 में ही विश्व धरोहरों की लिस्ट में शामिल किया गया था. भारत की सांस्कृतिक धरोहर एलोरा की 34 गुफाएं पाषाण काल की भारतीय धरोहर की निशानी हैं.

4- ताजमहल

ताजमहल (Taj Mahal) को सात अजूबों में भी गिना जाता है, यह शाहजहां ने अपनी तीसरी पत्नी या कहें बेगम मुमताज की याद में बनवाया था. लगभग 17 हेक्टेयर में बना यह खूबसूरत स्थल भी साल 1983 में ही UNESCO द्वारा वैश्विक विरासत में शामिल किया गया था. शाहजहां द्वारा बनाए गए दो ऐतिहासिक स्थलों में से एक ताजमहल प्यार का प्रतीक भी कहा जाता है, देश विदेश से यहां लोग घूमने आते हैं और इसकी खूबसूरती में डूब जाते हैं.

5- कोणार्क सूर्य मंदिर

ओड़िसा में स्तिथ सूर्य मंदिर (Konark Surya Mandir) बहुत बड़ा है, कलिंग वास्तुकला के लिए यह मंदिर पूरी दुनिया में फेमस है. UNESCO वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में इसे 1984 में जगह मिली, इस साल सिर्फ भारतीय स्थल शामिल हुए थे. इस मंदिर का निर्माण लाल रंग के बलुआ पत्थरों व काले ग्रेनाइट से हुआ है.

6- स्मारकों का समूह

तमिलनाडू में स्तिथ स्मारकों का समूह (Group of Monuments) ओपन एयर रॉक, पल्लव राजवंश, रथ मंदिर की प्राचीनशैली के निर्माण लिए लिए जाने जाते हैं, इन्हें 1984 में वैश्विक धरोहर की लिस्ट में शामिल किया गया था.

7- काजीरंगा नेशनल पार्क

असम स्तिथ काजीरंगा नेशनल पार्क (Kaziranga National Park) को साल 2006 में टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था, यह 2/3 गग्रेट वन-हॉर्न वाले गैंडों के लिए दुनियाभर में जाना जाता है. साल 1985 में UNESCO द्वारा इसे विश्व धरोहर घोषित किया गया था.

8- केओलादेओ नेशनल पार्क

केओलादेओ नेशनल पार्क (Keoladeo National Park) राजस्थान में स्तिथ मानव निर्मित बड़ा सा पार्क है, खासकर पक्षी विज्ञानिकों के लिए यह पार्क आकर्षण का केंद्र है. 1985 में यूनेस्को द्वारा इस उद्यान को वैश्विक धरोहर की लिस्ट में शामिल किया गया.

9- वन्यजीव अभ्यारण्य

असम की प्राकृतिक विरासत वन्यजीव अभयारण्य, टाइगर, हाथी व बायोस्फीयर रिर्जव के लिए जाना जाता है. 1985 में UNESCO वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स में भारत की 3 जगहों को स्थान मिला था, असम का वन्यजीव अभ्यारण्य (Manas Wildlife Sanctuary) इसमें एक था.

10- चर्च एंड कांवेंट्स

1983 के बाद साल UNESCO वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में, 1986 में चार भारतीय स्थल शामिल हुए उनमें से एक गोवा के चर्च व कांवेंट्स (Churches and Convents of Goa) शामिल थे.

11- खजुराहो के स्मारक

मध्यप्रदेश स्तिथ खजुराहो (Khajuraho, Group of Monuments) यहां बड़े बड़े हिंदू-जैन मंदिरों के अलावा कामुक आकृतियों के लिए प्रसिद्ध है. साल 1986 में यह यूनेस्को द्वारा वैश्विक विरासत में शामिल किया गया था.

12- हम्पी के स्मारक

कर्नाटक के हम्पी स्मारक (Group of Monuments at Hampi) विरूपाक्ष मंदिर की वास्तुकला, ह्प्मी की खंडहर कला आदि देखने लायक है. साल 1986 में ही इसे यूनेस्को द्वारा वैश्विक विरासत घोषित किया गया था.

13- फतेहपुर सीकरी

मुगल शासक अकबर द्वारा फतेहपुर सीकरी (Fatehpur Sikhri or the Citry of Victory) का निर्माण किया गया था, उत्तर प्रदेश के आगरा में स्तिथ यह देश के सबसे बड़ी मस्जिदों के लिए जाना जाता है. इसे भी साल 1986 में UNESCO द्वारा विश्व धरोहर की लिस्ट में शामिल किया गया था.

14- एलिफंटा गुफाएं

साल 1987 में यूनेस्को द्वारा महाराष्ट्र की एलिफंटा गुफाएं (Elephanta Caves), विश्व धरोहर की लिस्ट में शामिल किए गए, यह हिंदू मंदिर, बौद्ध गुफाओं, अरब में द्वीप व गुफाओं के लिए फेमस है.

15- ग्रेट चोल लिविंग मंदिर

तमिलनाडू स्तिथ यह स्थल (Great Living Chola Temples) मूर्तिकला, चित्रकारी व वास्तुकला के लिए दुनियाभर में फेमस है. यह भी साल 1987 में यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में शामिल हुआ था.

16- पत्तदकल स्मारक

साल 1987 में यूनेस्को द्वारा पत्तदकल स्मारक (Group of Monuments, Pattadakal) को विश्व धरोहरों की लिस्ट में शामिल किया गया था, कर्नाटक राज्य में स्मारक समूह 9 हिंदू मंदिरों व जैन अभ्यारण्य के लिए जाना जाता है.

17- सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान

पश्चिम बंगाल के दक्षिण में गंगा नदी के सुंदरवन डेल्टा इलाके में स्तिथ सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान (Sundarban National Park) बाघ संरक्षित व बायोस्फीयर रिजर्व क्षेत्र है. इसे 1987 में में UNESCO द्वारा वैश्विक विरासत सूची में लिस्टेड किया गया था.

18- नंदा देवी, फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान

प्राकृतिक धरोहर की बात आती है तो भारत का पहाड़ी राज्य उत्तराखंड अपने आप में इसकी मिसाल है, यहां के नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान (Nanda Devi National Park) साल 1988 में विश्व धरोहर के रूप में अंकित किया गया था.

19- बौद्ध स्‍मारक, सांची

बौद्ध धर्म के अनुयायी सांची के इस ऐतिहासिक स्थल (Buddhist Monuments at Sanchi) को स्किप नहीं कर सकते हैं, भगवान बुद्ध की प्रतिमायें, महल, मंदिर के लिए यह प्रसिद्ध है, इसे साल 1989 में यूनेस्को द्वारा वैश्विक धरोहर के रूप में अंकित किया गया था.

20- हुमायूं का मकबरा

दिल्ली का यह प्रसिद्ध स्थल (Humayun’s Tomb, Delhi) साल 1993 में UNESCO द्वारा वैश्विक विरासत की लिस्ट में शामिल किया गया था, यह मुगलकाल की वास्तुकला के लिए फेमस है.

21- कुतुबमीनार

साल 1993 में ही दिल्ली का कुतुबमीनार (Qutb Minar) भी यूनेस्को द्वारा वैश्विक विरासत के रूप में अंकित किया गया, इल्तुतमिश मकबरा, अलाई दरवाजा व मीनार के लिए यह स्थल फेमस है.

22- भारत के पर्वतीय रेलवे

भारत के पहाड़ी रेलवे (Mountain Railways of India) की तरफ यूनेस्को की नजर साल 1999 में गई. पश्चिम बंगाल की दार्जीलिंग हिमालयन रेलवे, तमिलनाडू की नीलगिरी माउंटेन रेलवे व हिमांचल प्रदेश की कालका शिमला रेलवे इसमें शामिल हैं.

23- बोधगया

सम्राट अशोक द्वारा बनाया गया पहला मंदिर महाबोधि मंदिर (Mahabodhi Temple Complex) बिहार के बोधगया में स्तिथ है, साल 2001 में यह यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में शामिल किया गया था.

24- भीमबेटका शैलाश्रय

भीमबेटका शैलाश्रय (Bhimbetka rock shelters) मध्यप्रदेश के भोजपुर रायसेन में पत्थरों के ऐसे ऐसे ढांचे व उनपर की गई कलाकारी का इतिहास बेहद पुराना है, साल 2003 में यूनस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स में इसे स्थान मिला था.

25- चंपानेर- पावागढ़ पुरातत्व उद्यान

गुजरात के चंपानेर पावागढ़ पुरातत्व उद्यान (Champaner-Pavagadh Archaeological Park), प्रागैतिहासिक चैकोलिथिक, प्राचीन हिंदू प्रदेश की राजधानी का महल, किला के अवशेष जो 16वीं शताब्दी के हैं, के लिए प्रसिद्ध है. इसे साल 2004 में संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल किया गया था.

26- छत्रपति शिवाजी टर्मिनस

महाराष्ट्र के पश्चिमी हिस्से में अरब सागर के किनारे स्तिथ छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (Chhatrapati Shivaji Terminus) 2.85 हेक्टेयर एरिया में फैली इस बिल्डिंग को 1878 से बनने में 10 साल से ज्यादा का वक्त लगा था, इसे पहले विक्टोरिया टर्मिनस के नाम से जाना जाता था, साल 2004 में यूनेस्को द्वारा इसे विश्व धरोहर में शामिल किया गया.

27- लाल किला, दिल्ली

साल 1638 में शाहजहां ने अपनी राजधानी आगरा से दिल्ली ट्रांस्फर की थी, शाहजहां ने खुद इसकी आधारशिला रखी, इस्लामिक न्यू इयर शुरू हुआ था और मुहर्रम का मौका था. 2007 में लालकिला परिसर (Red Fort Complex, Delhi) को यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल कर दिया गया था.

28- जंतर-मंतर, जयपुर

18वीं शताब्दी का बना यह स्थल खगोलीय प्रेक्षण स्थल है, यह खगोलीय स्तिथि (astronomical positions) की ऑब्जर्वेशन के लिए तैयार किया गया था. साल 2010 में संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (UNESCO) द्वारा इसे वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में शामिल किया गया.

29- पश्चिमी घाट

पश्चिमी घाट (Western Ghats), 1600 किलीमीटर के एरिया में फैला हुआ है जो तापी नदी की चोटी से निकलकर कन्याकुमारी की गुफाओं तक फैला है, इसे भी साल 2010 में यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स (World Heritage Sites) में शामिल किया गया था.

30- राजस्थान के पहाड़ी किले

राजस्थान के पहाड़ी किलों में छह किले (Hill forts of Rajasthan) में चितौड़गढ़, कुंभलगढञ, सवाई माधोपुर, झालवार, जयपुर व जैसलमेर हैं जो इनकी जबरदस्त बनावट के लिए जाने जाते हैं. 2013 में यूनेस्को द्वारा राजस्थान के किलों को विश्व धरोहर स्थल की लिस्ट में शामिल किया था.

31- रानी की वाव, पाटन गुजरात

गुजरात में सरस्वती नदी के तट पर स्तिथ रानी की वाव या कहें रानी की बावड़ी (Rani-ki-Vav or the Queen’s Stepwell), 11वीं शताब्दी में किसी राजा की स्मारक के रूप में बनाया गया था. 2014 में इस स्थल को UNESCO के वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में जगह मिली.

32- ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान

ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान (The Great Himalayan National Park- GHNP), 1999 में यह एक राष्ट्रीय पार्क घोषित हुआ था जो 754.4 स्क्वायर किमी के एरिया में फैला है. साल 2014 में यह यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज स्थल की लिस्ट में शामिल किया गया.

33- कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान

सिक्किम में स्तिथ यह राष्ट्रीय उद्यान (Khangchendzonga National Park) बायोस्फीयर रिजर्व है. साल 2016 में कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान, विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया था.

34- ली कोर्बुज़िए का स्थापत्य कार्य

आर्किटेक्ट ली कोर्बुज़िए की आधुनिक रचना (The Architectural Work of Le Corbusier), शहरों क बेहतरी की ओर ले जाने की सोच का परिचय भारत सहित रूस, अमेरिका व अन्य देशों में है. भारत में उनके द्वारा किए काम को साल 2016 में UNESCO द्वारा विश्व धरोहर घोषित किया गया.

35- नालंदा महाविहार (नालंदा विश्वविद्यालय), बिहार

आज का नालंदा विश्वविद्यालय (Nalanda Mahavihara, Bihar) 3 शताब्दी ईसा पूर्व बौद्ध मैथ था, यह पुरातत्व स्थल भी साल 2016 में ही UNESCO विश्व धरोहर की श्रेणी में शामिल किया गया.

36- अहमदाबाद, गुजरात

गुजरात प्रदेश का ऐतिहासिक शहर अहमदाबाद (Ahmedabad) के बारे में बताया जाता है कि यह 606 साल पुराना शहर है, विश्व धरोहर सिटी के नाम से यह UNESCO वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में शामिल किया गया है.

37- मुंबई की ‘विक्टोरियन गोथिक’ और ‘आर्ट डेको’

महाराष्ट्र के मुंबई स्तिथ ‘विक्टोरियन गोथिक’ और ‘आर्ट डेको’ (Victorian Gothic and Art Deco Ensembles of Mumbai) को साल 2018 में यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स की लिस्ट में शामिल किया गया था.

38- जयपुर सिटी

राजस्थान की जयपुर सिटी (Jaipur City) को पिंक सिटी या ओल्ड सिटी (Pink City or Old City) भी कहा जाता है, साल 2019 में UNESCO द्वारा जयपुर सिटी को वैश्विक धरोहर स्थलों की सूची में शामिल किया गया था.

39- रामप्पा मंदिर

यह शिव मंदिर (Rampappa Temple) भारत के तेलंगाना राज्य में स्तिथ है, काकतीय रुद्रश्वेर मंदिर भी कहा जाता है, साल 2021 में पहले रामप्पा मंदिर को UNESCO विश्व हेरिटेज साइट्स में लिस्टेड किया गया था.

40- हड़प्पा युग का महानगर धोलावीरा

साल 2021 में गुजरात के कच्छ स्तिथ प्राचीन महानगर धोलावीरा (Harappan City Dholavira) के साथ ही भारत के सुपर-40 का क्लब तैयार हो गया, UNESCO ने इस साल रामप्पा मंदिर व धोलावीरा को वैश्विक विरासत की श्रेणी में शामिल किया.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top