India News

Uttarakhand Assembly Election 2022: AAP के CM फेस कर्नल अजय कोठियाल के बारे में जानें खास बातें, कैसे मिली बड़ी जिम्मेदारी

Uttarakhand Assembly Election 2022: देश की राजधानी की सत्ता संभाल रही पार्टी को जिस चेहरे पर पूरा भरोसा है वह कोई आम शख्स तो हो नहीं सकता भले ही पार्टी आम आदमी पार्टी (आप) है, 17 अगस्त को देहरादून की सड़कों पर इस पार्टी की रैली की झलक देखने लायक थी.

उत्तराखंड की राजनीति में बदलाव का दावा करने वाली दिल्ली की पार्टी धीरे-धीरे उत्तराखंड में भी पकड़ मजबूत कर रही है, दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने पहले ही प्रदेश के लोगों को 300 यूनिट फ्री बिजली का वादा कर यहां की सियासत में खलबली मचा दी थी, सेना से रिटायर्ड कर्नल अजय कोठियाल (Col Ajay Kothiyal) के साथ जिस तरह के तालमेल देखे जा रहे थे उससे साफ हो गया था उनके चेहरे पर उत्तराखंड में चुनाव लड़ा जाएगा.

AAP की तरफ से अजय कोठियाल होंगे सीएम चेहरा

पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने अनुमान को हकीकत में बदलते हुए बीते मंगलवार 17 अगस्त को प्रदेश की राजधानी में ऐलान किया कि उनकी पार्टी आने वाले चुनावों (Uttarakhand Assembly Election 2022) में अजय कोठियाल (Col Ajay Kothiyal) के चेहरे के साथ कांग्रेस व भारतीय जनता पार्टी को मात देने जा रहे हैं. इसका अंदाजा पहले ही लगाया जा चुका था लेकिन कल अधिकारिक तौर पर आर्मी रिटायर्ड अधिकारी का नाम घोषित होने से पार्टी को नई ताकत मिली है.

यह भी पढ़ें:  UP Population Bill 2021: एक बच्चा तो ज्यादा फायदा, दो से ज्यादा बच्चे तो भारी नुकसान

मुख्यमंत्री उम्मीदवार चेहरे की घोषणा करते हुए अरविन्द केजरीवाल ने कांग्रेस व भाजपा पर आरोप लगाया कि दोनों पार्टियों ने प्रदेश की भोली भाली जनता को बहुत ठग लिया है, अब प्रदेश की तरक्की की बात हो. वहीं जमीनी हकीकत की बात करें तो उत्तराखंड में भाजपा या कांग्रेस के अलावा किसी तीसरी पार्टी का आना मुश्किल माना जाता है लेकिन आम आदमी पार्टी जिस तरह के मॉडल या स्कूल, मेडिकल सुविधा आदि का दावा करती है उससे तख्तापलट की भी उम्मीद की जा सकती है.

कौन हैं कर्नल अजय कोठियाल (Who is Ajay Kothiyal?)

अजय कोठियाल का जन्म, 26 फरवरी 1969 को उत्तराखंड के टिहरी जिले में हुआ था, वह पूर्व सैनिक के बेटे हैं जिसके चलते उनको देश की रक्षा का बचपन से ही शौक रहा. देहरादून के सेंट जोसेफ से स्कूलिंग के बाद उन्होंने सेना के लिए हामी भर ली थी.

उत्तराखंड में लोग अब यह नहीं कह सकते हैं कि किसी बाहरी पार्टी को प्रदेश की कमान नहीं सौंप सकते हैं, जी हां पार्टी नई है और दिल्ली में उभरी है लेकिन पार्टी ने उत्तराखंड के काबिल बेटे को प्रदेश की कमान सौंपने की योजना बनाई है, कर्नल अजय कोठियाल की मानें तो वह अपने यूथ फाउंडेशन (Col Ajay Kothiyal’s Youth Foundation) के जरिए गढ़वाल व कुमाऊं के 10 हजार से ज्यादा युवाओं को इंडियन आर्मी का रास्ता दिखा चुके हैं.

यह भी पढ़ें:  Munawwar Rana: ओवैसी की वजह से सीएम योगी फिर लौटे तो यूपी छोड़ देंगे मुनव्वर राना, नई जनसंख्या निति पर भी किया कटाक्ष

उत्तराखंड के केदारनाथ आपदा 2013 को कौन भूल सकता है, कर्नल अजय कोठियाल ने राहत कार्यों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया था और प्रदेश के लोगों की हरसंभव मदद की थी. इन्हीं कामों के चलते देश के बच्चों व युवाओं से लेकर बड़ों के दिल में उनके लिए बड़ा सम्मान है. साल 1999 में कारगिल वॉर हुआ था तो अजय कोठियाल ने दुश्मनों के खिलाफ लीडरशिप दिखाते हुए सामना किया था.

सीमा पर देश के लिए जान झोंकने वाले कर्नल अजय कोठियाल अब अपनी जन्मभूमि उत्तराखंड की राजनीति में बदलाव चाहते हैं जिसके लिए उन्होंने आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) का हाथ थामा है, उनके नेतृत्व में आम आदमी पार्टी प्रदेश के सभी 70 सीटों पर अगला विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) लड़ने जा रही है.

यह भी पढ़ें:  Gangotri Assembly 2021: गंगोत्री उपचुनाव में भाजपा को सहानुभूति मिलेगी या फिर कर्नल अजय कोठियाल लायेंगे बदलाव

अजय कोठियाल ने नहीं की शादी (Ajay Kothiyal married or unmarried)

साल 1992 में अजय कोठियाल, इंडियन आर्मी में बतौर सैन्य ऑफिसर जॉइन हुए, आर्मी बैकग्राउंड से आने की वजह से वह शुरुआत से ही एक तत्पर व बहादुर ऑफिसर हैं, उनके बहादुरी के किस्सों में कारगिल युद्ध के अलावा एक जबरदस्त आतंकी मुठभेड़ की कहानी भी शामिल है जब उन्होंने अकेले 7 आतंकियों को ढेर कर दिया था, इस दौरान उन्हें दो गोलियां भी लगी. देश सेवा के बाद अब प्रदेश सेवा में व्यस्त कर्नल कोठियाल कभी गृहस्थी बसाने की नहीं सोच पाए, 50 की उम्र का पड़ाव पार कर चुके अजय कोठियाल शादीशुदा नहीं हैं.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top