अनुच्छेद 370 हुआ खत्म, क्या है अनुच्छेद 370 व 35ए जिसकी वजह से कश्मीर में बढ़ा तनाव

JBT Staff
JBT Staff August 5, 2019
Updated 2021/08/05 at 3:04 PM

Article 370 removed: आइए जानते हैं क्या है अनुच्छेद 370 व 35ए जिसकी वजह से हिन्दुस्तान की जन्नत कश्मीर घाटी में लगातार तनाव बढ़ रहा है. लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान BJP का वादा था इन्हें हटाने का, आखिरकार राष्ट्रपति के आदेश से हटा 370.

एक तरफ केंद्र सरकार इन धाराओं को हटाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही है तो दूसरी तरफ कश्मीर के बड़े राजनेताओं ने जिद पकड़ी है कि वे जीते जी ऐसा होने नहीं देंगे. आजकल कश्मीर में फिर ऐसे हालात पैदा हो गये हैं कि धारा 144 लागू व मोबाइल इन्टरनेट सेवाएं बंद कर दी गयी हैं.

भारी संख्या में सैन्य बल तैनात कर दिए गये हैं व अधिकारीयों को सैटेलाइट फोन इस्तेमाल के लिए दिए गये हैं. आइये जानते हैं आखिर क्यों हो रहा है कश्मीर जैसी खूबसूरत जगह पत इतना अफरा तफरी का माहौल.

क्या है अनुच्छेद 370?

आज 5 अगस्त 2019 को बड़ा फैसला, राष्ट्रपति ने 370 को हटाने का दिया आदेश. इस आर्टिकल के अंतर्गत हिंदुस्तान के अभिन्न अंग कहे जाने वाले स्टेट जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया गया था, अर्थात इस राज्य को विशेष अधिकार दिया गया था जहां केंद्र सरकार की पकड़ कमजोर जबकि राज्य सरकार की मजबूत हुआ करती थी.

भारतीय संसद इस स्टेट में सिर्फ रक्षा, विदेश व संचार के क्षेत्र में कानून बना सकती थी बांकी कानून को लागू करने के लिए केंद्र सरकार, राज्य सरकार की मदद लिया करती थी.

क्या है अनुच्छेद 35ए?

इस धारा के अंतर्गत जे&के में, देश का कोई बाहरी या अस्थाई नागरिक न कोई संपति और न ही मकान खरीद सकता है या यूं कहें यह धारा (35A) जम्मू-कश्मीर विधानसभा को स्टेट के स्थाई निवासी की परिभाषा तय करने का अधिकार प्रदान करती है.

1954 में सविंधान से जुड़े इस अनुच्छेद के मुताबिक अस्थाई नागरिक को सरकारी नौकरी और स्कालरशिप भी नहीं मिलती है. यही वजह हैं देश के तमाम नागरिकों में इस लॉ को लेकर शिकायतें हैं.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.