India News

Uttarakhand People in Afghansitan: अफगानिस्तान में फंसे उत्तराखंड के लोगों के परिवार से सरकार ने मांगा ब्योरा, हेल्पलाइन नंबर जारी

Uttarakhand People in Afghansitan: अफगानिस्तान में क्या हालात हैं अभी तक पूरी दुनिया को पता चल चुका है, सोशल मीडिया पर तमाम ऐसी वीडियो व तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिनमें देखा जा रहा है कि तालिबान के लोग हथियारों से लदे हैं, भले ही उनके आलाकमान ने देश में शांति से शासन की बात कही लेकिन न जाने वहां लोग किस डर एक साए में जी रहे हैं.

अन्य देशों की तरह अफगानिस्तान में भी भारत के लोग नौकरी पेशे के सिलसिले में रहते हैं, अमर उजाला की एक रिपोर्ट की मानें तो अकेले उत्तराखंड प्रदेश की राजधानी देहरादून से 300 लोग इस वक्त अफगानिस्तान में हैं जिनके परिवार वाले तालिबान के कब्जे के बाद तनाव में हैं और करीबियों की इंतजार कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें:  Mandira Bedi: पति की मौत के बाद मंदिरा बेदी का पहला सोशल मीडिया पोस्ट भावुक कर देगा

जगह-जगह लोगों की फंसने की खबर सामने आ रही है, जिसके चलते प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से फोन पर बात की, इसके बाद सीएम ने शासन को निर्देश दिए कि जिनके परिजन अफगानिस्तान (Afghanistan) से फोन कर तकलीफ का जिक्र कर रहे हैं या स्वदेश आना चाहते हैं उनका ब्योर उपलब्ध कराया जाए ताकि केंद्र सरकार के सहयोग से उन्हें सकुशल घर वापस पहुंचाया जा सके.

हाल ही सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सोशल मीडिया के माध्यम से आश्वासन दिया था कि ‘अफगानिस्तान में फंसे उत्तराखंड के नागरिकों को सकुशल स्वदेश लाने के लिए राज्य सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है, हम लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में हैं, केंद्र ने भी इस विषय में आश्वस्त किया है’.

यह भी पढ़ें:  Taliban in Afghanistan: कहां हुआ तालिबान का उदय, कैसे एक संगठन ने पूरे देश की सत्ता पर कर डाला कब्जा

आपको बता दें उत्तराखंड के नागरिकों को लेकर पुष्कर सिंह धामी की सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया गया है, जिन परिवार वालों की चिंता कम नहीं हो रही है वे संबंधित जिलाधिकारी व पुलिस के बड़े अधिकारीयों को इस बाबत ब्योरा दें, हेल्पलाइन नंबर 112 पर अपने करीबी की जानकारी जारी कर सकते हैं.

हाल ही में एक वीडियो जारी हुई थी जिसमें उत्तराखंड के लोग स्वदेश वापसी की एपील कर रहे थे, एक खबर का दावा था कि यहां 300 से उत्तराखंडी एक जगह पर चार दिन से फंसे हैं जिन्हें एयरपोर्ट जाने का रास्ता नहीं मिल रहा था.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top