Ujjwala Yojana 2.0 in Hindi: क्या है उज्ज्वला योजना 2.0, आसानी से कैसे करें आवेदन

JBT Staff
JBT Staff August 11, 2021
Updated 2021/08/11 at 9:17 AM

Ujjwala Yojana 2021 Online Registration Kaise Karen: आज से 5 साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उज्ज्वला योजना की घोषणा की थी, जिसके तहत देश के 5 करोड़ गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों की महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन पहुंचाने का टारगेट सेट किया गया था, अब इसी योजना का दूसरा चरण 10 अगस्त 2021 को उत्तर प्रदेश के महोबा से जारी किया गया है.

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana)

उज्ज्वला योजना का मुख्य उद्देश्य देश की जो जनता गरीबी में गुजर बसर कर रही है उनके लिए खाना बनाने जैसी मूलभूत सुविधा को आसान करना है, देखा जाए तो देश की अधिकतर औरतें घरों में चूल्हा संभालती हैं जबकि पुरुष मेहनत मजदूरी कर आर्थिक संकट से निपटता है. इस चीज को ध्यान में रखते हुए उज्ज्वला योजना (Pradhanmantri Ujjwala Yojana) के तहत गरीबी रेखा या बीपीएल परिवारों की महिला सदस्यों के नाम गैस कनेक्शन करने का लक्ष्य रखा गया था.

परिवार के लिए 2 वक्त की रोटी का काम करते हुए धुंए, राख मिट्टी आदि से स्वास्थ्य संबंधी तकलीफें होने के खतरे को ध्यान में रखते हुए व जंगल से सूखी लड़की लाने व तोड़ने में वक्त की बर्बादी जैसे समस्याओं को समझते हुए इस योजना को सरकार द्वारा मुहैया करवाया गया, पीएम मोदी के मुताबिक 2018 में इस योजना के तहत आदिवासी, दलित व पिछड़ा वर्ग व तमाम श्रेणियों की गरीब महिलाओं को शामिल किया गया जिसके तहत 2019 खत्म होने तक 8 हजार करोड़ महिलाओं को फ्री में गैस कनेक्शन का लक्ष्य पूरा हुआ था.

क्या है उज्जवला योजना 2.0 ( Kya Hai Ujjwala Yojana  2.0)

उज्ज्वला योजना 2.0 की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के दौरान पीएम मोदी ने उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों से की बात (फोटो: केशव प्रसाद मौर्या ट्विटर)

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (Pradhan Mantri Ujjwala Yojana 2021) या कहें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का दूसरा चरण, केंद्र सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से उज्ज्वला योजना का लाभ लेने वालों के लिए चीजें आसान कर दी गई हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा गरीब परिवार इसका लाभ ले सकते हैं. उज्ज्वला योजना 2.0 के बारे में बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं दूसरे चरण में गैस कनेक्शन के अलावा देश की बहनों को गैस चूल्हा भी मिल रहा है.

पीएम मोदी ने उज्ज्वला योजना 2.0 की बात को ओलिंपिक से भी जोड़ा, उनके कहने का तात्पर्य था देश की बेटियों के लिए गैस कनेक्शन, स्कूल, शौचालय, पानी, बिजली, मकान जैसी मूल चीजों की पूर्ति समय से हो जाए तो वे घरों व रसोई से बाहर निकलकर राष्ट्रनिर्माण में योगदान दे पाएंगी. आगे कहते हैं इस साल ओलिंपिक में हमारे खिलाड़ियों ने मेडल जीतकर बेहतर भविष्य का संकेत दिया है, पीछे 7 दशकों की तरफ देखा जाए तो कुछ स्तिथियां दशकों पहले बेहतर की जा सकती थी.

उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण (Ujjwala Yojana 2.0) के तहत 1 करोड़ और महिलाओं के जीवन को बदलने की योजना बनाई गई है, इस बार एड्रेस प्रूफ के मुद्दे को समझा गया है. पीएम मोदी खुद कहते हैं कि बुंदेलखंड सहित उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों के लोग काम के सिलसिले में दूसरे गांवों व शहरों में जाते हैं, ऐसे में उनके सामने एड्रेस प्रूफ प्रमाण पत्र की समस्या आती है, लेकिन 2.0 के तहत अब श्रमिक साथियों को एड्रेस प्रूफ के लिए भटकने की आवश्यकता नहीं है, उन्हें अपने पते का एक सेल्फ डिक्लेरेशन या कहें पते के बारे में खुद लिखकर हस्ताक्षर या अंगूठा लगाकर डॉक्यूमेंट के साथ सौंपना होगा.

क्या है बायोफ्यूल (What is Biofuel)

उज्ज्वला योजना 2.0 के वर्चुअल लांच के दौरान पीएम मोदी ने किया बायोफ्यूल का जिक्र

उज्ज्वला योजना 2.0 की घोषणा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बायोफ्यूल का जिक्र किया, मौका विश्व बायोफ्यूल दिवस और विश्व जैव ईंधन (World Biofuel Day) का भी था जब पीएम मोदी ने देश की गरीब महिलाओं के लिए फ्री एलपीजी गैस कनेक्शन को पाने वाले लाभार्थियों का टारगेट बताया. वह कहते हैं सरकार बायोफ्यूल के इस्तेमाल के लिए काम कर रही है, अब प्रश्न उठता है आखिर ये बायोफ्यूल (Biofuel) क्या होता है.

बायोफ्यूल प्रदूषण रहित है इसलिए सरकार इस पर पूरी तरफ फोकस कर रही है, पेड़ पौंधों से बनने वाले इस ईंधन का इस्तेमाल देश में प्रदूषण स्तर को कम करेगा. एथेनॉल, बायो डीजल व बायोजेट फ्यूल इसके प्रकार हैं. एथेनॉल गन्ने से बनता है, जिस वक्त गन्ने से चीनी बनने की प्रक्रिया होती है तो एथेनॉल बाईप्रोडक्ट के तौर पर पैदा हो जाता है, इसे इन दिनों पेट्रोल में 8 फीसदी मिलाने की मंजूरी मिल चुकी है.

बायोफ्यूल का फायदा सिर्फ प्रदूषण रहित माहौल नहीं है, इससे किसानों को भी फायदा होगा फसल के मुख्य इस्तेमाल के बाद जो हिस्सा बेकार होने वाला होगा वो भी काम में आएगा, गन्ना ही नहीं गेंहू, घास, चुकंदर, जैट्रोफा, सोयाबीन आदि से बायोफ्यूल बनाया जाता है.

उज्ज्वला योजना आवेदन (Ujjwala Yojana Registration Kaise Karen 2021)

  1.  प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की अधिकारिक वेबसाइट pmuy.gov.in पर दिए गए Apply For New Ujjwala 2.0 Connection पर क्लिक करें. (Direct लिंक नीचे दिया गया है).
  2. Click Here लिंक पर क्लिक करें इसके बाद एक Popup Window आएगी.
  3. इस वेबपेज पर 3 विकल्प मिलेंगे जो इंडेन, भारत पेट्रोलियम व एचपी क्रमशः हैं.
  4. अपनी सुविधानुसार किसी एक विकल्प को चुनकर व नए कनेक्शन के लिए जानकारी जैसे नाम, आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर आदि भरकर सबमिट पर क्लिक करें.
  5. ऑनलाइन के अलावा ऑफलाइन आवेदन के लिए फॉर्म डाउनलोड कर उसमें मांगी गई जानकारी भरकर नजदीकी गैस एजेंसी डीलर के पास जमा कर दें.
  6. डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के बाद एलपीजी गैस कनेक्शन (Ujjawala Yojana Free Gas Connection) लाभार्थी के नाम हो जाएगा, इस प्रक्रिया में 10 से 15 दिन का समय लग सकता है.
  7. उज्ज्वला योजना से जुडी किसी भी तरह की जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर (PM Ujjwala Yojana helpline number – 1800 -2333 – 555 या Toll free number – 1906) पर बात कर सकते हैं.
  8. उज्ज्वला योजना 2.0 के तहत अब लाभार्थी को एड्रेस प्रूफ की आवश्यकता नहीं है, साथ ही फ्री गैस कनेक्शन के साथ गैस चूल्हा भी मिल रहा है.

Ujjwala Yojana 2021 Apply Direct Linkhttps://www.pmuy.gov.in/ujjwala2.html

उज्ज्वला योजना 2.0 के लिए आवश्यक कागज (PM Ujjwala Yojana Documents)

PM Ujjwala Yojana Documents 2021
PM Ujjwala Yojana Documents 2021

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के दूसरे चरण का लाभ उठाने के लिए आपका आधार कार्ड, पहचान पत्र की भूमिका निभाएगा. सरकारी कामों के लिए राशन कार्ड महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट होता है, उज्ज्वला योजना 2.0 के लिए गरीबी रेखा से नीचे का राशन कार्ड (BPL Ration Card), बीपीएल कार्ड (BPL Card), eKYC, लाभार्थी के अलावा परिवार के व्यस्क सदस्यों का आधार भी लगेगा.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.