Politics

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मौजूदगी में नरेंद्र मोदी ने किया उपराष्ट्रपति की किताब का विमोचन

देश के उप राष्ट्रपति वैंकया नायडू के कार्यकाल का एक साल पूरे होने पर रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी किताब का विमोचन किया। 245 पृष्ठों और सात अध्याय वाली किताब ‘मूविंग ऑन मूविंग फॉरवर्ड- ए ईयर इन ऑफिस’ के विमोचन कार्यक्रम में नरेंद्र मोदी सहित पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद रहे। इस किताब में वैंकया नायडू ने सबसे ज्यादा न्यू इंडिया मिशन का जिक्र किया।

सभी जानते है कि वैंकया नायडू खुद एक किसान थे जिसकी वजह उन्होनें हमेशा से ही किसानों के हक में ही कार्य किया है। इसी के चलते प्रधानमंत्री मोदी ने भी वैंकया नायडू के साथ बिताए दिनों को याद करते हुए कहा कि अटल जी नायडू जी को मंत्राल्य की जिम्मेदारी सौंपना चाहते थे तभी वैंकया जी ने अटल जी से ग्रामीण विकास मंत्री बनने की बात कही। उन्होंने हमेशा  किसानों की भलाई और कृषि के लिए खुद को समर्पित किया। इसी वजह से वैंकया आज किसानों के चहीते है।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे वैंकया के काम करने के तरीके की काफी प्रशंसा भी की और साथ ही वैंकया नायडू के द्वारा अपनी पूरी टीम को एक साथ काम करने पर जोर देने के लिए शुक्रिया अदा भी किया। मोदी ने कहा कि वैंकया जी पदभार से ज्यादा कार्यभार पर जोर देते है। वेंकैया जी के बारे में सुनकर हमें काफी गर्व होता है, वह अनुशासन का पालन करने वाले हैं। वह कभी घड़ी, कलम और पैसे नहीं रखते हैं। घड़ी न रखने पर भी वेंकैया जी हर कार्यक्रम में समय पर पहुंचते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top