Bollywood

इस बिग बॉस कंटेस्टेंट ने अमिताभ बच्चन और करण जौहर पर उठाए सवाल, पूछा #MeToo पर क्यों हो खामोश?

#MeToo अभियान पर बड़े सेलिब्रिटीज की चुप्पी अब सवालों के घेरे में है. मॉडल और पूर्व बिग बॉस कंटेस्टेंट डाएंड्रा सोरेस ने अमिताभ और करण जौहर की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं.

बॉलीवुड में पिछले कुछ दिनों पहले #MeToo अभियान ने इंडस्ट्री की पोल खोल कर रख दी है. इस अभियान के तहत आलोक नाथ से लेकर अनु मलित जैसे सितारों पर यौन शोषण के आरोप लग चुका है.

कुछ सितारें इस अभियान का लगातार समर्थन कर रहे है, तो वहीँ कुछ बड़े सितारे अब तक इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं. जिन सितारों ने अब तक #MeToo पर चुप्पी साधी हुई है, उसमें अमिताभ बच्चन और करण जौहर का नाम भी शामिल है.

यह भी पढ़ें:  Amitabh Bachchan Health: बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन की तबियत फिर बिगड़ी, आज होगी सर्जरी

करण के चुप रहने पर कंगना रनौत ने भी उन पर कई तरह के सवाल खड़े किए थे. वहीं अब इन दोनों को मॉडल और पूर्व बिग बॉस कंटेस्टंट डाएंड्रा सोरेस के निशाने पर आना पड़ा है.

डाएंड्रा ने अमिताभ बच्चन और करण से ये सवाल किया है कि आखिर वो अब तक इतने गंभीर मुद्दे पर चुप क्यों हैं. अमिताभ की चुप्पी को लेकर डाएंड्रा ने कहा कि अमिताभ ने पिंक जैसी फिल्म की, जिसके प्रमोशन के लिए वो जगह-जगह गए. मैं बस उनसे एक सवाल करना चाहती हूं.

मैं उनके बेटे और बहू को अच्छी तरह से जानती हूं. उनकी एक पोती भी है. इसके अलावा उनके परिवार में कई महिलाएं भी है. मैं बस यही जानना चाहती हूं कि वो इस मामले पर अभी तक चुप क्यों है. डाएंड्रा से पहले भी कुछ महिलाओं ने अमिताभ पर इस बड़े मामले में न बोलने को लेकर सवाल उठाए थे.

यह भी पढ़ें:  Aamna Imran: कौन है ऐश्वर्या राय बच्चन जैसी हूबहू ये पाकिस्तानी लड़की, फैंस भी खा रहे हैं धोखा

डाएंड्रा ने अमिताभ के बाद हिंदी सिनेमा के सबसे बड़े डायरेक्टर और प्रोड्यूसर माने जाने वाले करण जौहर पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि वो कई बार अपने शो में गर्ल पावर जैसी बाते कर चुके है. क्या उन्हें इस बात का असली मतलब भी पता है? अगर वो किसी के लिए स्टैंड नहीं ले सकते तो इसका कोई मतलब नहीं रह जाता.

गौरतलब है कि डाएंड्रा भी इस अभियान के तहत सुहेल सेठ पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकी है. अब उनके इस बयान के बाद लोगों ने उनके खिलाफ ही आवाज उठानी शुरु कर दी है. कुछ स्टार्स का कहना है कि वो इस तरह किसी पर भी अपना निर्णय लेने और राय देने के लिए दवाब नहीं बना सकती.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top