Republic Day Special: देशभक्ति पर आधारित ये 10 शानदार फिल्में आपके अंदर का देशभक्त जगा देंगी

Umesh
Umesh January 26, 2019
Updated 2019/01/26 at 1:10 PM

भारत में हमेशा से ही दर्शक देशभक्ति पर आधारित फिल्में पसंद करते आए है. देशभक्ति से जुड़ी फिल्मों का क्रेज वैसे तो हमेशा ही रहता है लेकिन ये क्रेज रिपब्लिक डे और इंडिपेंडेंस डे पर कुछ ज्यादा रहता है. तभी को इन दिनों टीवी चैनल्स पर देशभक्ति से जुड़ी फिल्मों की भरमार रहती है.

आज रिपब्लिक डे हैं. इस ख़ास मौके पर हम आज आपको देशभक्ति पर आधारित बॉलीवुड की कुछ बेहतरीन फिल्मों के बारे में बताएंगे. इन फिल्मों को देखने के बाद यकीनन आपका सीना गर्व से 56 इंच का हो जाएगा.

हकीकत (1964)

1964 में आई फिल्म ‘हकीकत’ ऐसे सैनिकों की टुकड़ी की कहानी थी, जो लद्दाख में भारत-चीन युद्ध के दौरान सोचते हैं कि उनकी मौत निश्चित है. फिल्म में देशभक्ति का जज्बा कूट-कूटकर भरा हुआ था. उस सैनिकों की टुकड़ी में से कुछ सैनिकों को कैप्टन बहादुर सिंह (धर्मेंद्र) बचाने में सफल हुए थे.

शहीद (1965)

यह फिल्म शहीद भगत सिंह की ज़िन्दगी पर आधारित थी. फिल्म में दिखाया गया था कि आखिर किस तरह अपनी जान की परवाह ना करते हुए भगत सिंह खुशी-खुशी फांसी के फंदे पर झूल जाते हैं. फिल्म की कहानी स्वयं भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी. इस फिल्म में शहीद राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ के गीत थे. फिल्म में मनोज कुमार ने भगत सिंह का किरदार निभाया था.

क्रान्ति (1981)

मनोज कुमार के निर्देशन में बनी इस मल्टीस्टारर फिल्म में दिलीप कुमार, शशि कपूर, हेमा मालिनी, शत्रुघ्न सिन्हा और परवीन बॉबी जैसे कई बड़े स्टार्स लीड रोल में थे. फिल्म में अंग्रेजी शाशन के खिलाफ आजादी की लड़ाई की कहानी को दर्शाया गया है. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बड़ी हिट साबित हुई थी.

सरदार (1993)

केतन मेहता के निर्देशन में बनी यह फिल्म लोह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के जीवन पर आधारित थी. फिल्म में परेश रावल ने सरदाल पटेल का रोल निभाया था. भारत की आज़ादी के दौरान सरदार पटेल का अहम योगदान रहा था, यही बात फिल्म में दिखाई गई थी. यह फिल्म देखने के बाद आप भी चाहेंगे कि वल्लभ भाई पटेल को भारत का प्रधानमंत्री बनना चाहिए था.

बॉर्डर (1997)

यह फिल्म 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध पर आधारित थी. युद्ध पर आधारित फिल्मों की बात की जाए, तो बॉर्डर को बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन फिल्म कहा जाएगा. फिल्म में सनी देओल, सुनील शेट्टी और अक्षय खन्ना मुख्य भूमिका में नज़र आए थे. जेपी दत्ता के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर शानदार कमाई करते हुए तीन नैशनल अवार्ड भी अपने नाम किए थे.

स्वदेश (2004)

शाहरुख खान की यह फिल्म देखने के बाद आपका अपने देश के प्रति प्यार, गर्व और जिम्मेदारी बढ़ जाएगी. फिल्म में शाहरुख़ ने मोहन नाम के व्यक्ति की भूमिका निभाई थी, जो अमेरिका में नासा में साइंटिस्ट है. छुट्टियों में अपने गाँव आकर मोहन को देश की दुर्गति का पता चलता है. मोहन अपने गांव के विकास के लिए अपनी लाखों की नौकरी छोड़ भारत आने का फैसला करता है.

रंग दे बसंती (2006)

राकेश ओमप्रकाश मेहरा के निर्देशन में बनी ये यूथ ओरिएंटेड फिल्म आपके अंदर देशभक्ति की ज्वाला भर देगी. ये फिल्म कहानी है कुछ ऐसे लापरवाह और जिंदादिल नौजवानों की जो भ्रष्टाचार के चलते अपने एक दोस्त को खो देते हैं. अपने दोस्त की शहीदी का बदला लेने के लिए इनको गैरकानूनी और क्रांतिकारी कदम उठाने पड़ते हैं.

चक दे इंडिया (2007)

2007 में आई इस फिल्म में शाहरुख़ खान ने एक हॉकी कोच की भूमिका निभाई थी.  फिल्म एक ऐसे खिलाडी की कहानी है जिस पर पाकिस्तान से हार के बाद गद्दार होने का इल्जाम लगता है. कैसे ये खिलाडी एक कोच के रूप में वापसी करता है और 16 साधारण लड़कियों को मिलाकर एक शानदार हॉकी टीम बनता है, जो भारत को वर्ल्ड कप जिताती है.

लक्ष्य (2004)

2004 में आई इस फिल्म का निर्देशन फरहान अख्तर ने किया था. लक्ष्य एक ऐसे युवक की कहानी है जो लापरवाह है और किसकी ज़िन्दगी का कोई लक्ष्य नहीं है.  कैसे ये बिगड़ा और लापरवाह लड़का अपनी गर्लफ्रेंड से लताड़ खाने के बाद एक फौजी बनता है और भारत को युद्ध में जीत दिलाता है, फिल्म में यही दिखाया गया है.

दंगल (2016)

आमिर खान की दंगल एक स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म थी. फिल्म की कहानी पहलवान महावीर फोगाट और उनकी बेटियों गीता और बबिता की कहानी है. फिल्म में आमिर खान के देश के प्रति सम्मान देखते ही बनता है. ये फिल्म आपके अंदर देशभक्ति और कुछ कर गुजरने का जोश भर देगी.

Share this Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.